class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पलामू में ज्ञान-विज्ञान समिति का जिला सम्मेलन आयोजित

पलामू जिला स्कूल के प्रशाल में 19 अक्तूबर को भारत ज्ञान विज्ञान समिति पलामू इकाई का नौवां जिला सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, जनतंत्र विकास और सामाजिक न्याय पर वैज्ञानिक नजरिया से काम करने पर जोर दिया गया।

उद्घाटन सत्र में उपस्थित पंचायत से आये कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भारत ज्ञान विज्ञान समिति के राष्ट्रीय महासचिव काशीनाथ चटर्जी ने कहा कि भारत ज्ञान विज्ञान समिति परिवार का नहीं बल्कि समाज का संगठन है। 1989 में इसकी स्थापना हुई। 1991 से लेकर 2001 के दशक में साक्षरता दर बढ़ने की पीछे ज्ञान विज्ञान समिति की अहम भूमिका रही है। शिक्षा का अधिकार, सूचना का अधिकार आदि जैसे महत्वपूर्ण कानून जो आज लागू हैं, उसके पीछे भी ज्ञान विज्ञान समिति की ही देन है। इसकी मांग कई साल से की जा रही थी। उन्होंने का शिक्षा का अधिकार कानून जो लागू है, उसमें जो कानून बनाये गए हैं, उसका अक्षरश: पालन नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि नवंबर में पंचायत स्तर पर सबका देश हमारा देश अभियान की शुरुआत की जाएगी। इसके तहत शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य आदि पर कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। इप्टा के शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि बाजारवाद के खिलाफ ज्ञान विज्ञान समिति को जन आंदोलन चलाने की जरूरत है। ज्ञान-विज्ञान का सृजन सिर्फ कॉलेज और स्कूलों में नहीं होता है, बल्कि खलिहानों से ज्ञान-विज्ञान का सृजन शुरू होता है। इस मौके पर मुख्य रूप से शिवशंकर प्रसाद, सुधीर कुमार सिंह, अतिक जैदी, संदीप कुमार प्रजापति आदि ने भी अपने-अपने विचारों को रखा। इस मौके पर पंचायत स्तर के काफी संख्या में ज्ञान विज्ञान समिति से जुड़े काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:District conference of Gyan Vigyan Samiti Palamu unit
From around the web