Image Loading Breaking the unity of the unions involved in the BMS - LiveHindustan.com
गुरुवार, 29 सितम्बर, 2016 | 05:21 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पाकिस्तानी कलाकारों फवाद, माहिरा और अली जफर के भारत छोड़ने पर बॉलीवुड सितारों...
  • टीम इंडिया में गंभीर की वापसी, भारत-न्यूजीलैंड टेस्ट के टिकट होंगे सस्ते। इसके...
  • भविष्यफल: तुला राशि वालों को आज परिवार का भरपूर सहयोग मिलेगा, मन प्रसन्न रहेगा।...
  • हिन्दुस्तान सुविचार: जीवन के बुरे हादसे या असफलताओं को वरदान में बदलने की ताकत...
  • सार्क में हिस्सा नहीं लेंगे पीएम मोदी, गंभीर की दो साल बाद टीम इंडिया में वापसी,...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

कोयला क्षेत्र में ट्रेड यूनियनों की एकता तोड़ने में लगा बीएमएस

रांची। वरीय संवाददाता First Published:23-09-2016 08:03:00 PMLast Updated:23-09-2016 08:04:24 PM
कोयला क्षेत्र में ट्रेड यूनियनों की एकता तोड़ने में लगा बीएमएस

सीसीएल मुख्यालय में ट्रेड यूनियनों की संयुक्त आम सभा हुई। इसमें सम्मानजनक बोनस देने और जेबीसीसीआई की बैठक तुरंत करने की मांग उठी। नेताओं ने कहा कि सरकार के इशारे पर बीएमएस ट्रेड यूनियनों की एकता तोड़ने की साजिश कर रहा है। बीएमएस के नेता ने संयुक्त मोर्चा के नेताओं पर झूठे आरोप लगाए। संयुक्त मोर्चा की एकता बनाएं रखने के लिए सीटू ने हस्तक्षेप किया। नेताओं ने कहा कि 16 सितंबर को दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले ने जेबीसीसीआई पर कोई रोक नहीं लगाई है। हालांकि सरकार के मौखिक आदेश से कोल इंडिया की तमाम द्विपक्षीय कमेटियों की बैठकें रद्द कर दी। वक्ताओं ने कहा कि कोयला मजदूरों के संयुक्त आंदोलन को कमजोर करने के लिए अकेले बीएमएस ने छह अक्तूबर को कोल इंडिया घेरने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि दुर्गापूजा शुरू होने के बाद कोलकाता में पैदल चलना दूभर हो जाएगा। ऐसे में प्रदर्शन कैसे होगा। यह कामगारों को भ्रम में डालने की चाल है। वक्ताओं ने कहा कि सरकार मजदूरों की एकता तोड़कर बोनस और वेतन समझौते में नाममात्र की बढ़ोत्तरी करने की साजिश रच रही है। अन्य उद्योगों में ऐसा किया है।सभा में कामगारों से एकताबद्ध होकर सम्मानजनक बोनस और अच्छे वेतन समझौते के लिए संघर्ष करने की अपील की गई। बीएमएस से भी संयुक्त मोर्चा के साथ मिलकर संघर्ष करने का आग्रह किया गया। सभा की अध्यक्षता सीटू के डीडी रामानंदन ने की। सीटू के आरपी सिंह, मिथिलेश सिंह, अमित राय और रोहित कुमार, इंटक के धर्मेंद्र गोस्वामी, राजेंद्र चौधरी, एचएमएस के जगनाथ साहू ने विचार रखें। मौके पर श्रीकांत शर्मा, अशोक सिंह, विकास कुमार, राकेश, मानस मोइत्रा, प्रशांत कुमार अन्य मौजूद थे।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Breaking the unity of the unions involved in the BMS
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड