Image Loading Bharti jain, inspirational lady of simdega - LiveHindustan.com
बुधवार, 28 सितम्बर, 2016 | 00:28 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • भारतीय टीम में गौतम गंभीर की वापसी, कोलकाता टेस्ट के लिए टीम में शामिल
  • इस्लामाबाद में होने वाले सार्क सम्मलेन में भाग नहीं लेंगे पीएम मोदी: MEA
  • पंजाब-हिमाचल सीमा पर संदिग्ध की तलाश, पठानकोट में संदिग्ध की तलाश जारी, पुलिस ने...
  • पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को विदेश मंत्रालय ने किया तलब, उरी हमले के...
  • CBI ने सुप्रीम कोर्ट से बुलंदशहर गैंगरेप केस में कथित बयान को लेकर यूपी के मंत्री...
  • दिल्लीः कॉरपोरेट मंत्रालय के पूर्व डीजी बी के बंसल ने बेटे के साथ की खुदकुशी,...
  • मामूली बढ़त के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 78.74 अंको की तेजी के साथ 28,373 और निफ्टी...
  • US Election Debate: ट्रंप की योजनाएं अमेरिका की अर्थव्यव्स्था के लिए ठीक नहीं, हमें सब के...
  • हावड़ा से दिल्ली की ओर जा रही मालगाड़ी पटरी से उतरी, सुबह की घटना, अभी रेल यातायात...
  • क्रिकेटर बालाजी 'रजनीकांत' के फैन हैं, आज बर्थडे है उनका। उनकी जिंदगी से जुड़े...

रोते हुए आयी थीं और सबको रुला कर जाएंगी सिमडेगा की भारती जैन

सिमडेगा रिंकू First Published:23-09-2016 04:14:00 PMLast Updated:23-09-2016 04:16:33 PM
रोते हुए आयी थीं और सबको रुला कर जाएंगी सिमडेगा की भारती जैन

मुसीबत भी उसी व्यक्ति के आगे घुटने टेकते नजर आती है, जो उसका हंसते हुए डटकर मुकाबला करने का हुनर जानते हैं। सिमडेगा पुलिस जिला बल में पदस्थापित महिला आरक्षी भारती जैन भी सशक्त और आदर्श महिला के रूप में जानी जाती हैं।

27 वर्ष पूर्व भारती जैन भी अन्य महिलाओं की तरह एक कुशल गृहिणी की जिंदगी जी रही थीं। भारती के पति बिम्लेश्वर कुमार धनबाद जिला में पुलिस विभाग में एसआई के पद पर पदस्थापित थे। पति की नौकरी से भारती अपने तीन बच्चों का लालन पोषण बड़े आराम से कर रही थीं। इसी बीच सन 1989 में भारती के ऊपर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा, जब उनके पति की मृत्यु सड़क दुर्घटना में हो गई। पति की मौत के बाद भारती को अपने तीनों बच्चों की परवरिश की चिंता सताने लगी। इसी दु:ख की घड़ी में भारती ने एक सशक्त महिला और मां की भूमिका अदा करते हुए अनुकंपा के लिए नौकरी के लिए आवेदन दिया। भारती के आवेदन पर 1991 में भारती को पुलिस विभाग में आरक्षी के पद पर बहाल किया गया। इसके बाद भारती ने मुसीबतों का डटकर सामना करते हुए अपने काम और एक मां का कर्तव्य बड़ी इमानदारी और निष्ठा से निभाते हुए आज उस मुकाम पर हैं, जहां उसके तीनों बच्चे अपने पांव पर खड़े हैं और विभाग के लोग भी भारती के काम की तारीफ करते नजर आते हैं।

30 सितंबर को सेवानिवृत्त हो जाएंगी भारती जैन

1991 में अनुकंपा में बहाल हुई भारती जैन 30 सितंबर को सेवानिवृत्त हो जाएंगी। 27 सालों की पुलिस की नौकरी में कभी भारती के कामों पर अंगुली नहीं उठाई गई। पुलिस विभाग में भारती अपनी सादगी और मृदुभाषी होने के बल पर सब इनकी इज्जत करते हैं। वर्तमान में भारती महिला थाना में अपनी सेवा दे रही हैं। भारती के व्यवहार पर विभागीय लोगों का कहना है कि पति की मौत के बाद आंख में आंसू लिए रोते हुए भारती ने नौकरी ज्वाइन किया था और अब अपने व्यवहार के कारण सबको रुलाते हुए वो विभाग से विदाई लेंगी।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Bharti jain, inspirational lady of simdega
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड