class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एमयू में वर्ष 2009 से अबतक तीन सौ विदेशी छात्रों ने की पीएचडी!

मगध विश्वविद्यालय भारत में ही नहीं, दुनिया के कई देशों में शोध कराने के लिए मशहूर है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि वर्ष 2009 से अप्रैल 2017 तक लगभग 300 विदेशी छात्रों ने एमयू से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है।

यह जानकारी आरटीआई के माध्यम से विवि से मिली है। जानमाने युवा आरटीआई एक्टिविस्ट रंजीत पंडित ने मार्च 2015 में विवि से वर्ष 2009 से सूचना देने तक पीएचडी करने वाले विदेशी छात्रों का ब्यौरा मांगा था। जिसमें छात्र का नाम, उनके देश का नाम, शोध का विषय, शोध अवधि, जिस शिक्षक के गाइड में विदेशी छात्र ने पीएचडी की, छात्र-छात्राओं का वीजा एवं पासपोर्ट की प्रमाणित प्रति तथा विदेशी शोधार्थियों पर खर्च की गई राशि के बिंदू शामिल हैं। लेकिन विवि ने इन बिंदुओं पर जानकारी देने से मना कर दिया। उसने कहा, सूचना तीसरे पक्ष से संबंधित है। सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के धारा 11 (1) के तहत विवि द्वारा कोई सूचना नहीं दी जा सकती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:news brief