class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सप्ताह में आठ स्कूलों का करना है निरीक्षण

शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए सरकार, शिक्षा विभाग से लेकर जिला प्रशासन तक सख्त है, लेकिन कई स्कूलों पर इसका असर नहीं पड़ रहा है। अब भी कई स्कूलों के शिक्षक व प्राचार्य देर से स्कूल आते हैं और जल्दी चले जाते हैं। कुछ तो आते भी नहीं और उनकी हाजिरी बन जाती है।

इसकी शिकायत विभाग को लगातार आ रही है। स्कूल पर अंकुश लगाने के लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने सभी पदाधिकारी को औचक निरीक्षण करने का आदेश जारी किया है। इस बाबत जारी पत्र के मुताबिक एक सप्ताह में 32 स्कूलों का औचक निरीक्षण होना है। क्षेत्रीय उच्च शिक्षा निदेशक, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी व डीपीओ स्थापना को सप्ताह में आठ-आठ स्कूलों का निरीक्षण कर इसकी रिपोर्ट विभाग को देनी है।

होगी सख्त कार्रवाई : जिला कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि औचक निरीक्षण के दौरान किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। समय पर और रोजाना स्कूल न आने वाले शिक्षकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि डीएम एसके अग्रवाल ने भी शिक्षा विभाग के कार्यकलाप की समीक्षा बैठक में भी सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को नियमित रूप से स्कूलों की जांच करने का आदेश दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:every week isnpections in eight schools