class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गांधी जी के प्रेरणास्रोत रहे संत श्रीमद राजचंद्र

राष्ट्रपित महात्मा गांधी, गुजरात के संत श्रीमद् राजचंद्र के जीवन व दर्शन से बहुत अधिक प्रभावित थे। गांधी जी ने खुद लिखा है कि दयाधर्म मैंने उनके जीवन से ही सीखा है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी उनके अनुयायियों में शामिल हैं।

पर आज की युवा पीढ़ी इस महान संत-विचारक से पूरी तरह से परिचित नहीं है। इसलिए संत राजचंद्र की 150वीं जन्मशती पर इस वर्ष देशभर में उनके जीवन पर आधारित नाटक युगपुरुष-महात्मा के महात्मा का मंचन किया जा रहा है। इस नाटक का 525वां मंचन पटना में 23 मई को रवीन्द्र भवन में होगा। जैन संघ पटना के अध्यक्ष प्रदीप जैन, महासचिव मुकेश जैन,उपाध्यक्ष सुबोध जैन और एमपी जैन ने शनिवार को एक प्रेस वर्ता में यह जानकारी दी। उनके अनुसार चर्चित रंगनिर्देशक राजेश जोशी के निर्देशन में इस नाटक का मंचन पटना में हो रहा है।

इसकी कहानी उत्तम गडा ने लिखी है, जबकि संगीत सचिन-जिगर ने दी है। नाटक के बीस कलाकार 22 मई को पटना पहुंच जाएंगे। नाट्य समारोह में मुख्य अतिथि होंगे गांधी जी के पोते तुषार गांधी। प्रदेश के राज्यपाल रामनाथ कोविंद व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी आमंत्रित किया गया है। संघ के सदस्य विनोद जैन ने बताया कि इस नाटक को दादासाहब फाल्के अवार्ड मिल चुका है। नाटक में युवा गांधी की भूमिका निभाने वाले पुलकित सोलंकी, निर्देशक राजेश जोशी और बेस्ट ड्रामा का पुरस्कार मिला था। हिन्दी के साथ कन्नड़ मराठी भी इस नाटक की प्रस्तुति हो चुकी है। अंग्रेजी, तमिल व बांग्ला में भी पटकथा तैयार की जा रही है। इस वर्ष अमेरिका, यूरोप, आस्ट्रेलिया और अफ्रीका में नाटक का मंचन हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:drama yugpurush will staged at patna on 23 may