class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाटलिपुत्र स्टेशन से वाया गंगा पटना सिटी जाएंगे श्रद्धालु

गुरु गोविंद सिंह जी के 350वें प्रकाशोत्सव पर पटना सिटी में होने वाले महासमारोह में देश और दुनिया भर से पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की बड़ी तादाद के मद्देनजर राज्य सरकार कई तरह की सुविधा और सहूलियत के इंतजाम में लगी है।

इसी कड़ी में एक महत्वपूर्ण व्यवस्था श्रद्धालुओं को तख्त श्रीहरमंदर साहिब तक पहुंचना है। इसके लिए रेल और सड़क मार्ग के साथ ही वैकल्पिक उपाय के तहत नदी मार्ग से यातायात का इंतजाम किया जा रहा है।

नगर विकास एवं आवास विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक श्रद्धालुओं के लिए गंगा में फेरी सर्विस शुरू की जाएगी। इसके लिए कोलकाता से किराए पर फेरी (पानी के छोटे जहाज) मंगाए जाएंगे। फेरी सेवा दानापुर के नासरीगंज या दीघा में से किसी एक घाट से शुरू होगी। तय घाट को सड़क मार्ग से पाटलिपुत्र रेलवे स्टेशन से जोड़ा जाएगा। वहां स्टेशन पर उतरने वाले श्रद्धालुओं को वाहन से इस घाट पर लाया जाएगा। वहां से फेरी से कंगनघाट पहुंचाया जाएगा, जहां से लिंक वाहन से उनको पटना सिटी ले पहुंचाया जाएगा।

बीच में गंगा के दो और घाटों-गांधीघाट और गायघाट को भी रोड कनेक्टिविटी से जोड़ने की योजना है। इस वैकल्पिक ट्रैफिक व्यवस्था का मकसद प्रकाशोत्सव के दौरान पटना की सड़कों पर वाहनों का दबाव कम करना है। इसके लिए पटना डीएम, एसएसपी और ट्रैफिक एसपी से भी विमर्श किया गया है।

रूट को लेकर हो चुका है सर्वे : इससे पहले सितम्बर के आखिर में नगर विकास एवं आवास विभाग के विशेष सचिव संजय दयाल (आईआरएसएस) की अगुआई में इनलैंड वाटरवे अथॉरिटी के निदेशक, पटना के ट्रैफिक एसपी, पटना सिटी के एसडीएम और पटना नगर निगम के अधिकारियों की टीम फेरी सेवा शुरू करने को लेकर रूट को लेकर गंगा में स्टीमर सर्वे कर चुके हैं। इनलैंड वाटरवे अथॉरिटी इसके लिए स्वीकृति दे चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:devotees will go patnacity from patliputra station via ganga