class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छत्तीसगढ़ से बुलावा: शराबबंदी सम्मेलन में सीएम नीतीश को न्योता

छत्तीसगढ़ से बुलावा: शराबबंदी सम्मेलन में सीएम नीतीश को न्योता

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार छत्तीसगढ़ में शराबबंदी मुहिम का आगाज कर सकते हैं। गुरुवार को वहां से आए सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में सीएम ने 25-26 मार्च को शराबबंदी पर छत्तीसगढ़ में होने वाली आम सभा में शामिल होने के संकेत दिए। 

बिहार में लागू शराबबंदी से प्रभावित होकर पटना आए समाजसेवियों के साथ सीएम प्रदेश कार्यालय में लगभग सवा घंटे बैठे। इसमें सीएम ने शराबबंदी पर अपने विचार खुलकर बताए। कहा कि इंजीनिर्यंरग कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही शराबबंदी के बारे में सोचा करता था। 17-18 वर्ष की आयु में ही देखा करता था कि कैसे लोग शराब के चंगुल में फंसकर बर्बाद हो रहे हैं। लोगों का घर-परिवार तबाह हो जाता था। जननायक कर्पूरी ठाकुर ने अपने शासनकाल में शराबबंदी लागू की। लेकिन वह अधिक कारगर नहीं हो सकी। 2015 में विधानसभा चुनाव के पहले जीविका के सम्मेलन में भाषण समाप्त कर बैठ गया तो कुछेक महिलाओं ने शराबबंदी की मांग की। तब आश्वस्त किया कि अगर सरकार में आया तो शराबबंदी लागू करूंगा। लेकिन चुनाव में इसकी अधिक चर्चा नहीं की। जैसे ही सरकार में आया, पहले एक अप्रैल से गांवों में और फिर शहरों में पांच अप्रैल से पूरे बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू की। 

सीएम ने कहा कि महात्मा गांधी शराबबंदी के पक्षधर थे। शराबबंदी से राज्य में कम हुए आपराधिक वारदातों का जिक्र करते हुए कहा कि इससे समाज में खुशहाली आई है। लोग अपनी मेहनत की कमाई रहन-सहन व बच्चों की पढ़ाई पर खर्च कर रहे हैं। सीएम ने शराबबंदी के पक्ष में काम कर रहे सामाजिक संगठनों की तारीफ भी की।

बैठक में मौजूद छत्तीसगढ़ जदयू के प्रदेश जदयू अध्यक्ष मनमोहन अग्रवाल ने कहा कि हमारी पार्टी पूरे देश में शराबबंदी की मांग कर रही है। बिहार की तरह छत्तीसगढ़ में भी शराबबंदी लागू हो, इसके लिए सामाजिक संगठनों का साथ मिल रहा है। रायपुर में 25-26 मार्च को दो दिनी सम्मेलन में शामिल होने पर सीएम ने कहा है कि विधानमंडल सत्र चालू है। लेकिन किसी एक दिन शामिल होने की कोशिश करूंगा। बैठक में छत्तीसगढ़ से आए चंद्रशेखर, अरुण कुमार, अनिता वर्मा के अलावा जदयू के राष्ट्रीय सचिव रवीन्द्र सिंह, प्रदेश महासचिव डॉ नवीन कुमार आर्य व अनिल कुमार मौजूद थे।

खुलकर रखे विचार 
-संगठनों के साथ बैठक में सीएम ने शराबबंदी पर अनुभव सुनाए
-नीतीश कुमार ने कहा-अपराध घटे, समाज में आई खुशहाली 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:cm nitish kumar will join anti-liquor movement in chhattisgarh