class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

246 में मात्र 20 स्कूलों ने ही जमा किए यू डाइस

246 में मात्र 20 स्कूलों ने ही जमा किए यू डाइस

फर्जी नामांकन रोकने व छात्रों तक योजनाओं के लाभ के लिए सभी निजी व सरकारी स्कूलों को जिला शिक्षा कार्यालय में यू डाइस (यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इंफॉरमेशन सिस्टम ऑफ एजुकेशन ) फॉर्म भर कर जमा करना था, लेकिन पटना जिले के 247 उच्च विद्यालयों में से सिर्फ 20 सरकारी स्कूलों ने ही यू डाइस फॉर्म भर कर जमा किया है।

वे स्कूल जिन्होंने अब तक फॉर्म नहीं भरा है, उन पर जिला शिक्षा कार्यालय की ओर से कार्रवाई के लिए विभाग को भेजा तो जाएगा। साथ इन स्कूलों के छात्रों को छात्रवृत्ति से वंचित होना पड़ सकता है। यू डाइस फॉर्म भर कर जमा करने की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर थी। पटना जिला में कुल 246 हाईस्कूल हैं, इसमें से 189 सरकारी, 18 अल्पसंख्यक, छह प्रोजेक्ट, 32 उत्क्रमित विद्यालय हैं। 189 सरकारी स्कूलों में से ही 20 स्कूलों ने आवेदन भरा है। हो सकती है संबद्धता रद्द जिला में 50 निजी स्कूल हैं। इसमें से एक भी स्कूल ने यू डाइस फॉर्म न तो जिला शिक्षा कार्यालय से लिया, न ही भरा। जिला शिक्षा कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि उन सभी निजी स्कूल की संबद्धता रद्द करने के लिए उच्च अधिकारी को पत्र भेजा जाएगा। साथ ही सरकारी स्कूल जिन्होंने अब तक यू डाइस फॉर्म नहीं भरा उन स्कूलों पर भी कार्रवाई करने के लिए विभाग को पत्र भेजा जाएगा। क्या है यू डाइसकेन्द्र सरकार ने देश के सभी स्कूलों को एक यूनिक कोड दिया है। यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इंफॉरमेशन सिस्टम ऑफ एजुकेशन के माध्यम से एक ही नाम के दो या अधिक स्कूलों को कंपाइल कर एक कोड प्रदान किया गया है। किसी क्षेत्र में एक नाम से एक स्कूल को ही यह कोड प्रदान किया जाता है। इससे प्रशासन को डाटा रखने में भी आसानी होती। इसके अलावा यू डाइस कोड से संस्था के पंजीयन का भी पता चल जाता है। ऐसे में अभिभावक आसानी से जान सकते हैं कि संस्था पंजीकृत है या नहीं। साथ ही यह भी जानकारी होगी एक ही नाम के बच्चों का नामांकन दूसरी जगह है या नहीं। फर्जी नमांकन का इससे पता चल सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Only 20 school have sumitted u Dise from