class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों की ऋण माफी पर श्वेत पत्र जारी करें केंद्र : सुबोधकांत

किसानों की ऋण माफी पर श्वेत पत्र जारी करें केंद्र : सुबोधकांत

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने केंद्र सरकार से किसानों की ऋण माफी के संबंध में श्वेतपत्र जारी करने की मांग की। उन्होंने कहा कि भाजपा ने चंद पूंजीपति मित्रों का 1 लाख 54 हजार करोड़ रुपया माफ किया है। वहीं, दाल के आयात नीति के माध्यम से बिचौलियों को 15 हजार करोड़ का लाभ पहुंचाया है। किसानों को लागत एवं 50 प्रतिशत मुनाफा जोड़कर भुगतान करने के चुनावी वायदे को भाजपा का महा जुमला बताया।

श्री सहाय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तीन साल का चेहरा जुमलों का चेहरा है, जनता खुद को ठगा हुआ महसूस कर रही है। वह सदाकत आश्रम में शनिवार को प्रदेश कांग्रेस के वेब पोर्टल की लांचिंग एवं राष्ट्रीय कांग्रेस की ओर से प्रकाशित ‘अन्नदाता मृत्यु का अभिशाप पत्रिका के विमोचन से पूर्व प्रेस से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कर्ज माफी के दावे के पूर्व केंद्र बताए कि किसानों ने कितने कर्ज का भुगतान किया था। उन्होंने केंद्र पर कालाधन की वापसी में विफल रहने एवं रोजगार सृजन की जगह वर्तमान रोजगार में ह्रास करने का आरोप लगाया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अशोक चौधरी ने कहा कि केंद्र अपने एक भी वायदे पर खरी नहीं उतरी है। निर्यात बढ़ने की जगह घट गया, रोजगार सृजन की जगह ह्रास हो गया। भाजपा ने यूपीए को जिन मुद्दों पर बदनाम किया था, उसमें भी 50 प्रतिशत की वृद्धि हो गयी। पशुपालन मंत्री अवधेश कुमार सिंह ने कहा कि कृषि एवं पशुपालन की योजना में भारी कटौती कर दी गयी है। मौके पर विधायक अमिता भूषण, विधान पार्षद तनवीर अख्तर, डॉ. हरखु झा, ई. संजीव सिंह सहित अन्य मौजूद थे। इससे पूर्व सुबह में श्री सहाय राजद प्रमुख लालू प्रसाद से उनके आवास पर मुलाकात की । उन्होंने कहा कि यह व्यक्तिगत मुलाकात थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Issue white paper on farmers' debt waiver Center: Subhodhakant