Image Loading Bihar Police data will be on one click - Hindustan
मंगलवार, 24 जनवरी, 2017 | 10:35 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • आज के हिन्दुस्तान में पढ़ें एस श्रीनिवासन का विशेष लेख: तमिलनाडु में मुक्ति की...
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, रांची और देहरादून में हल्के बादल छाए रहने का...
  • आज के हिन्दुस्तान का ई-पेपर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आज का भविष्यफल: कर्क राशि वालों को भाइयों का सहयोग मिलेगा, अन्य राशियों का हाल...
  • हेल्थ टिप्स: हर दिन 10 मिनट निकालें अपने लिए और ऐसे हो जाएं दुरुस्त
  • GOOD MORNING: चुनाव आयोग ने सशर्त बजट पेश करने की मंजूरी दी, माल्या मामले में IDBI के पूर्व...

अब एक क्लिक पर सामने होगा बिहार पुलिस का डाटा

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो First Published:19-10-2016 05:30:58 PMLast Updated:19-10-2016 05:40:14 PM

बिहार पुलिस हाईटेक होने जा रही है। विभिन्न पुलिस इकाइयों और जिला पुलिस के पास मौजूद संसाधन को एक क्लिक पर जानने के लिए रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम सॉफ्टवेयर लगाया गया है। अब पुलिस के मैनपावर से लेकर उसके हथियार, गाड़ी और अन्य संसाधनों का लेखाजोखा कम्प्यूटर में होगा। फिलहाल इसका ट्रायल हो रहा है। अगले महीने से पुलिस लाइन का कामकाज इसी सॉफ्टवेयर के जरिए होगा।

मैनपावर, हथियार व गाड़ियों का डाटा

इस सॉफ्टवेयर की खूबी है कि इसमें पुलिस से संबंधित कई तरह की जानकारियां फीड की गई हैं। जानकारियों के आधार पर डाटा बेस तैयार किया गया है। जिलावार बनने वाले डाटाबेस में पुलिस अफसर और जवानों के पद की संख्या के साथ उनकी तैनाती या प्रतिनियुक्ति का रिकार्ड होगा। हर पुलिसकर्मी का अपना डाटाबेस होगा। उनकी छुट्टी का भी हिसाब-किताब इसमें दर्ज रहेगा। किसने कितनी छुट्टी ली है। छुट्टी पर गए हैं तो कब वापस आना है जैसी तमाम जानकारियां इस सिस्टम में रहेंगी। डाटाबेस में जिला पुलिस को मिले हथियार और वाहनों का भी रिकॉर्ड भी डाला जाएगा।

पुलिस लाइन का काम होगा आसान

रिसार्स मैनेजमेंट सिस्टम सॉफ्टवेयर के शुरू होने के बाद पुलिस लाइन से होनेवाला काम कम्प्यूटराइज्ड हो जाएंगे। कम्प्यूटर से रैंडमाइज कमान काटने की व्यवस्था होगी। ऐसा नहीं होगा कि एक जवान को ही लगातार किसी खास स्थान पर ड्यूटी मिलेगी। जवानों को यदि कोई विशेष प्रशिक्षण मिला है तो डाटाबेस में इसका भी जिक्र होगा, ताकि जरूरत के मुताबिक उनका इस्तेमाल किया जा सके।

नवम्बर महीने से काम शुरू होगा

फिलहाल बिहार पुलिस इसे ट्रायल बेसिस पर चला रही है। ताकि कोई दिक्कत आती है तो उसे दूर कर लिया जाए। नवम्बर से पुलिस लाइन का कामकाज इसी सिस्टम के जरिए निपटाया जाएगा। अधिकारी जब चाहे अपने फोर्स का रिकॉर्ड देख सकते हैं। कमान काटने का काम पारदर्शी होगा। इसमें मुंशी की मनमर्जी नहीं चलेगी, वहीं अधिकारियों और जवानों के जोन, रेंज और जिला टर्म पूरा होने का पता भी आसानी से चल जाएगा।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Bihar Police data will be on one click
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड