class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरवरी के बाद 700 नए डॉक्टरों की सेवा हो जाएगी समाप्त

सात सौ नए सरकारी डॉक्टरों की सेवा फरवरी के बाद समाप्त हो जाएगी। इन्हें अस्पताल ज्वाइन करने के लिए एक और मौका दिया जाएगा। बीपीएससी के रिजल्ट प्रकाशन के एक साल अंदर इन्हें योगदान करना है।

यह अवधि फरवरी में पूरी हो रही है। इसके बाद भी अगर डॉक्टरों ने योगदान नहीं दिया तो इनकी सेवा समाप्त मानी जाएगी। इस साल फरवरी में 1798 सामान्य व 306 विशेषज्ञ चिकित्सकों की बहाली हुई थी। 1300 सामान्य व 100 विशेषज्ञों ने अस्पताल में योगदान कर लिया, लेकिन 500 सामान्य व 200 विशेषज्ञों ने योगदान नहीं किया। बिहार में सामान्य चिकित्सक के कुल 5777 पद हैं। इनमें 4053 चिकित्सक कार्यरत हैं। 1724 पद रिक्त हैं। वहीं विशेषज्ञ चिकित्सकों के कुल 2775 पद में 2330 रिक्त हैं।

स्वास्थ्य विभाग अब चिकित्सकों को अस्पताल में योगदान के लिए नोटिस भेजेगा ताकि वे अस्पताल में योगदान कर लें। इसके बावजूद वे ज्वाइन नहीं करते तो उनकी सेवा स्वत: समाप्त मानी जाएगी। इसके बाद ये सारी वैकेंसी को नई रिक्तियों में जोड़ दिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि मनचाही पोस्टिंग नहीं मिलने के कारण इन चिकित्सकों ने सरकारी अस्पताल में योगदान नहीं किया है। जिन चिकित्सकों की पोस्टिंग दूर-दराज के इलाकों में हुई है वे योगदान नहीं कर रहे हैं।

इसी तरह जिन डॉक्टरों को निजी अस्पतालों में बेहतर पैकेज मिल वे सरकारी अस्पतालों में योगदान करने से कतरा रहे हैं। कई चिकित्सक ऐसे हैं जिन्होंने योगदान कर एमस व एमडी की पढ़ाई के लिए छुट्टी ले ली है।

जिन नए चिकित्सकों ने अस्पताल में योगदान नहीं किया उन्हें एक मौका दिया जाएगा। इसके बाद इनकी सेवा समाप्त मानी जाएगी।

- शेखरचंद्र वर्मा, संयुक्त सचिव, स्वास्थ्य विभाग

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:700 New Doctor service will dismiss after February
From around the web