class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजवल्लभ मामले में सुप्रीम कोर्ट में भी कमजोर पड़ी सरकार : मोदी

पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि नाबालिग से दुष्कर्म मामले में अभियुक्त विधायक राजवल्लभ यादव के मामले में सुप्रीम कोर्ट में भी सरकार कमजोर पड़ी। इससे राजवल्लभ की जमानत तत्काल रद्द नहीं हुई और उन्हें सप्ताह भर की मोहलत मिल गई।

बुधवार को जारी बयान में श्री मोदी ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में राजवल्लभ यादव की जमानत का विरोध करने के लिए आपराधिक मामलों के किसी बड़े वकील को खड़ा नहीं किया। दूसरी तरफ विधायक के बचाव में सिद्धार्थ लूथरा और आर बसंत जैसे नामचीन वकीलों ने पैरवी की। आरोप लगाया कि लालू प्रसाद की हमदर्दी के कारण नीतीश सरकार ने हाईकोर्ट में कमजोर पैरवी कर पहले शहाबुद्दीन और फिर राजवल्लभ को जमानत दिलवायी थी। राजद खुलकर अभियुक्तों के पक्ष में जगह-जगह धरना-प्रदर्शन कर रहा है और मुख्यमंत्री उनसे गठबंधन धर्म का पालन नहीं करा पा रहे हैं।

श्री मोदी ने कहा कि राजवल्लभ यादव के डर से पीड़ित छात्रा सदमे में है। राजदेव हत्याकांड में शहाबुद्दीन का नाम आने से राजदेव की डरी-सहमी पत्नी ने इस मामले की सुनवाई बिहार से बाहर करने की अपील की, लेकिन सरकार राजी नहीं हुई। मुजफ्फरपुर में केंद्रीय विद्यालय के जिस दलित छात्र की पिटायी हुई थी, वह डर से स्कूल नहीं जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि बिहार में अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण मिल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: government dented in the supreme court rajvllbh case : modi