class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मध्यावधि चुनाव की बात से उजागर होती भाजपा की सत्तालोलुपता

वित्त मंत्री अब्दुलबारी सिद्दिकी ने बुधवार को धर्मनिरपेक्षता और वित्तीय अनुशासन की चर्चा करते हुए भाजपा पर जमकर वार किया। कहा कि भाजपा की सत्तालोलुपता तब जाहिर हो जाती है जब उसके नेता मध्यावधि चुनाव की बात करने लगते हैं। चुनाव तो समय पर ही होगा, लेकिन पता नहीं इस बार उनकी संख्या विपक्ष में रहने लायक भी होगी या नहीं।

पार्टी कार्यालय में प्रेस से बातचीत में उन्होंने कहा कि भाजपा नेता सुशील मोदी राज्य में जंगलराज और वित्तीय अनियमितता की बात करते हैं, लेकिन उस सरकार के बारे में कुछ नहीं बोलते, जिसमें वह खुद शमिल थे और जिसपर एजी ने चोरी और वित्तीय अनुशासन भंग करने का आरोप लगाया है। श्री मोदी जानते हैं कि एजी ने उन्हीं विभागों पर टिप्पणी की है जो विभाग भाजपा के पास थे। उन्हीं विभागों की कंडिकाएं लंबित हैं। वह खुद वित्तमंत्री थे।

धर्मनिरपेक्षता पर टिप्पणी करने वाले भाजपा नेता ये बताएं कि चुनाव जीतने के बाद उन्होंने धर्मनिरपेक्षता की झूठी शपथ ली थी क्या। हमारा संविधान ही धर्मनिरपेक्षता पर आधारित है और हम सरकार या विपक्ष में आते हैं तो उसी की शपथ लेते हैं। उन्होंने कहा कि आज के संवाद में कार्यकर्ताओं से लगभग चार सौ आवेदन मिले हैं। सभी आवदेनों को संबंधित विभाग को भेजा जागा और उसपर हुई कार्रवाई से कार्यकर्ताओं को अवगत कराया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष रामचन्द्र पूर्वे, प्रधान महासचिव मुद्रिका सिंह यादव, तनवीर हसन भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: exposed to the midterm elections BJP sattalolupta
From around the web