class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं मिला वीजा, कैमिस्ट्री कप में भाग नहीं ले पाए भारतीय मुक्केबाज

नहीं मिला वीजा, कैमिस्ट्री कप में भाग नहीं ले पाए भारतीय मुक्केबाज

भारतीय मुक्केबाज वीजा समय पर नहीं मिलने के कारण जर्मनी में होने वाले कैमिस्ट्री कप में नहीं खेल पायेंगे। हालांकि राष्ट्रीय महासंघ ने आश्वस्त किया है कि मुक्केबाजों को जल्द ही एक अन्य टूनार्मेंट में भेजकर इसकी भरपायी की जायेगी। 
    
दो एशियाई युवा पदकधारी वाली इस नयी दस सदस्यीय टीम को आज रात जर्मनी में हाले के लिये रवाना होना था। लेकिन वीजा नहीं बनने से योजना विफल हो गयी। 

क्यों नहीं मिला वीजा   

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआईटटट) के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा, वीजा नहीं मिल सके क्योंकि हमें काफी बाद में पता चला कि शेनजेन वीजा के आवदेन उसी क्षेत्र से भरे जाते हैं जहां के आप होते हो। हम एक केंद्रीकत प्रक्रिया अपनाते थे जो दिल्ली से की जाती थी। 

आरोपों पर लीपापोती से हैरान नहीं हुईं ब्रिटिश साइकिलिस्ट जेसिका

    
उन्होंने कहा, लेकिन इस बार, हमें बताया गया कि आवेदन क्षेत्रीय केंद्र से ही भरे जा सकते हैं, जहां के मुक्केबाज हैं। इस प्रक्रिया में काफी समय बरबाद हो गया था और वीजा समय पर नहीं मिले। अब हम सुनिश्चित करेंगे कि वीजा हासिल करने की प्रक्रिया 15 दिन पहले ही शुरू की जाये। 
    
सिंह ने कहा कि जिन मुक्केबाजों को आज यहां से वापस भेजा गया है, उन्हें जल्द ही अन्य टूनार्मेंट में भाग लेने के लिये भेजा जायेगा। 

इस टूनार्मेंट के लिये चुने गये मुक्केबाजों को अन्य टूनार्मेंट में भेजा जायेगा

उन्होंने कहा, इस टूनार्मेंट के लिये चुने गये मुक्केबाजों को जल्द ही एक अन्य टूनार्मेंट में भेजा जायेगा। बल्कि ऐसा अगले 15 दिन में ही होगा। उन्हें निराश नहीं होना चाहिए, हम अगले 20 दिन में कुछ निमंत्रण टूनार्मेंट के लिये बातचीत कर रहे हैं। 
    
इस टीम ने एशियाई युवा रजत पदकधारी अंकुश दहिया (60 किग्रा) और रेयाल पुरी (81 किग्रा) थे। कैमिस्ट्री कप 13 से 18 मार्च तक आयोजित होगा। 

पेस के बाहर होने से इंडियन वेल्स में भारतीय चुनौती समाप्त

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:visas not coming through indian boxers to miss chemistry cup