class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाट आंदोलन को लेकर बोतल में पेट्रोल देने पर रोक

जाट आंदोलन को लेकर बोतल में पेट्रोल देने पर रोक

फरीदाबाद और पलवल के जिलाधीशों ने अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति की तरफ से 20 मार्च 2017 को किए गए दिल्ली चलो आह्वान को लेकर कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए कई गतिविधियों पर पाबंदी लगा दी है। इसमें विशेष रूप से पेट्रोल पंपों को बोतल में पेट्रोल, डीजल नहीं देने के सख्त आदेश दिए हैं। यह आदेश आदेश दण्ड प्रक्रिया नियमावली 1973 की धारा 144 के तहत उन्हें प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए जारी किए गए हैं। 

इन आदेशों में जिलाधीशों ने कहा है कि पुलिस महानिरीक्षक गुप्तचर विभाग हरियाणा की ओर से उनके संज्ञान में लाया गया है कि उक्त समिति द्वारा गत 24 जनवरी 2017 से विभिन्न स्थानों पर धरने प्रदर्शन किए जा रहे हैं और इसी कड़ी में उक्त प्रकार का आह्वान किया गया है। इसलिए आवश्यक प्रतिबंध लगाना जरूरी है। 

आदेशों के अनुसार जिले में स्थित कोई भी पेट्रोल पंप किसी भी आम जन को खुली बोतलों, ड्रम, प्लास्टिक व केनी आदि में पेट्रोल तथा डीजल नहीं देगा। कोई भी पेट्रोल पंप किसी ट्ैक्टर एवं ट्राली में पांच लीटर से ज्यादा पेट्रोल या डीजल नहीं डालेगा। किसी भी ट्रैक्टर ट्राली में किसी प्रकार का निर्मित भोजन ज्यादा मात्रा में एकत्रित करके ले जाना प्रतिबंधित होगा। जिले में स्थित सभी टैन्ट मालिकों व सप्लायरों पर प्रतिबंध लगाया गया है कि वे धरना प्रदर्शन से सम्बन्धित व्यक्तियों एवं संस्थाओं को किसी प्रकार का टैन्ट आदि उपलब्ध नहीं करवाएंगे। लाउडस्पीकर, एम्लीफायर व हैंड माईक आदि के सप्लायरों द्वारा धरना प्रदर्शन से सम्बन्धित व्यक्तियों व संस्थाओं को ये चीजें न देने पर पाबंदी लगाई गई है।

फरीदाबाद में आदेशों की दृढ़ता से पालना सुनिश्चित करने के लिए जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियन्त्रक, जिला कृषि उपनिदेशक व उनके अन्य अधिकारी, हरियाणा प्रदूषण नियन्त्रण बोर्ड के फरीदाबाद एवं बल्लबगढ़ के क्षेत्रीय अधिकारी, सभी उपआबकारी एवं कराधान आयुक्त, जिला सिविल सर्जन, खाद्य निरीक्षक, तहसीलदार फरीदाबाद व बल्लबगढ़ तथा खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी फरीदाबाद व बल्लबगढ़ को आदेश दिए गए हैं। 

ये आदेश प्रतिबन्ध जारी होने से आगामी 60 दिन या फिर आह्वान वापस लेने तक की अवस्था तक मान्य रहेंगे। आदेशों की अवहेलना करने पर यदि कोई व्यक्ति दोषी पाया जाता है तो वह आईपीसी की धारा 188 के तहत दण्ड का भागी होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:stopping petrol in bottle over jat movement