class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

MCDResults: 3 निगमों में BJP को बहुमत, 181 में जीती, आप48, कांग्रेस30

MCDResults: 3 निगमों में BJP को बहुमत, 181 में जीती, आप48, कांग्रेस30

दिल्ली के तीनों नगर निगमों में भाजपा को बहुमत मिला है। भाजपा ने 270 सीटों में से 181 सीटें हासिल की हैं। वहीं आप तीनों निगमो में कुल 48 सीटें हासिल हुई हैं। कांग्रेस 30 सीटें ही प्राप्त करने में कामयाब हुई है। 

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि वह दिल्ली की जनता को नमन करते हैं। यह पीएम मोदी की नीतियों की जीत है। उन्होंने कहा कि अगर केजरीवाल इसी को जनमत संग्रह मानते हैं तो अपने राइट टू रिकॉल की मांग को याद करें।   

वहींं केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि लोगों को भाजपा की नीतियों और पीएम मोदी के नेतृत्व पर भरोसा है। भाजपा में शामिल हुए भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रवि किशन ने कहा कि अरविंद केजरीवाल के कथनी और करनी में फर्क है इसका परिणाम है चुनावों का रिजल्ट।

MCD जीत पर बोले शाहः दिल्लीवालों ने मोदी के विजय रथ को आगे बढ़ाया       

लाइव अपडेट्स

दक्षिणी दिल्ली 

भाजपा - 70

आप-   16

कांग्रेस - 12

अन्य - 6

उत्तरी दिल्ली

भाजपा - 64   

आप-   21

कांग्रेस - 15

अन्य - 3

पूर्वी दिल्ली

भाजपा - 47

आप-  11

कांग्रेस - 03

अन्य - 2

बता दें कि निगम चुनावों के लिए 23 अप्रैल को मत डाले गए थे। इसमें 53.58 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों समेत कुल 2537 प्रत्याशी मैदान में हैं। 

नतीजों से तय होगी दिल्ली की दिशा
निगम चुनाव के नतीजों से दिल्ली की राजनीतिक दिशा तय होने की उम्मीद की जा रही है। वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में सभी को चौंकाते हुए आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें जीती थीं। लेकिन, आप का यह जादू अब कम होता दिख रहा है। हाल ही में राजौरी गार्डेन विधानसभा सीट पर हुए उपचुनावों में आप प्रत्याशी की जमानत जब्त हो गई थी। जबकि, कांग्रेस को अपना खोया हुआ वोटबैंक कुछ हद तक वापस होता हुआ दिखा। इस सीट पर जीत भाजपा को मिली। माना जा रहा है कि निगम चुनाव के नतीजों से दिल्ली की वास्तविक राजनीतिक स्थिति का पता चलेगा। 

2537 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज

दस सालों से निगम की सत्ता में है भाजपा
दिल्ली नगर निगम पर दस वर्षों से भाजपा सत्ता में है। जबकि, कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल है। पहले वर्ष 2007 से 2012 तक एकीकृत निगम में भाजपा की सत्ता रही है। जबकि, विभाजन के बाद 2012 में हुए चुनावों में भी भाजपा को तीनों निगमों में बहुमत मिला है। इस बार के नतीजों से पहले भी तमाम एक्जिट पोल में भाजपा को बढ़त मिलती हुई दिखाई गई है। इससे जहां भाजपा के हौसले बुलंद दिख रहे हैं, वहीं कांग्रेस और आम आदमी पार्टी इस बयान देने में सावधानी बरत रहे हैं।

इकत्तर लाख लोगों ने किया था मतदान
दिल्ली में कुल एक करोड़ 32 लाख मतदाता है। इसमें से 71,39,994 लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सबसे ज्यादा मतदान दक्षिणी दिल्ली में हुआ है। यहां पर 26,87,685 लोगों ने मतदान किया। जबकि, उत्तरी निगम में 26,80,011 लोगों ने और पूर्वी निगम में 17,72,298 लोगों ने मत डाले हैं।

MCD Results 2017: 3 A के कारण हार गए केजरीवालः संबित पात्रा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:results of corporation elections today