class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नोएडा कंपनी में आग: 50 कर्मचारियों में से 20 लोग थे कंपनी में मौजूद

नोएडा कंपनी में आग: 50 कर्मचारियों में से 20 लोग थे कंपनी में मौजूद

सेक्टर-11 की एक्सेल ग्रीनटेक कंपनी में बुधवार दोपहर को लगी भीषण आग में फंसे कई कर्मचारियों ने रस्सी के सहारे कूदकर अपनी जान बचाई। आग से निकलने के बाद उनका रो-रोकर बुरा हाल था। वह आग में फंसे अपने साथियों को लेकर चिंतित थे। 

सेक्टर-11 एफ-55 स्थित एक्सेल ग्रीनटेक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में बेसमेंट के अलावा चार मंजिल हैं। इस कंपनी में लगभग 50 अधिकारी व कर्मचारी काम करते हैं। कंपनी में तीन पार्टनर प्रतीक लॉरियल सेक्टर-120 निवासी संजाय दास, सनवल्र्ड वनालिका सेक्टर-107 निवासी राजेश पोट्टी और रोहिणी दिल्ली निवासी महबूब अख्तर हैं। कंपनी चाइना से सीएफएल, एलईडी बल्ब और स्वीच पैनल आयात कर पूरे देश में आपूर्ति करती है। सेक्टर-11 में कंपनी का कॉरपोरेट ऑफिस है और यहीं पर इलेक्ट्रानिक्स सामान की पैकिंग भी होती है। 

सामान की पैकिंग के लिए कंपनी के बेसमेंट से लेकर प्रत्येक तल पर काफी मात्रा में गत्ता और पैकिंग व इलेक्ट्रानिक सामान में प्रयोग होने वाला प्लास्टिक रखा था। इस वजह से थोड़ी देर में ही आग पूरी बिल्डिंग में फैल गई। आग लगने पर कुछ कर्मचारी खुद बाहर निकल आए। कुछ कर्मचारियों को पीछे मौजूद कंपनी के लोगों ने छत पर रस्सा डालकर बाहर निकाला। बाहर निकले कर्मचारियों ने बताया कि लगभग छह लोग कंपनी की चौथी मंजिल पर आग में बुरी तरह फंस गए थे।

हादसे के वक्त काफी कर्मचारी बाहर थे 
जिस वक्त कंपनी में आग लगी, उस समय लंच का समय था। इसके चलते कंपनी के काफी कर्मचारी बाहर थे। कंपनी में लगभग 20 लोग ही मौजूद थे। इनमें कंपनी के एक मालिक संजय दास और एक महिला अधिकारी जसमीत कौर भी थे। 

सात घंटे तक आग काबू करने का प्रयास किया 
सूचना पाकर मौके पर गौतमबुद्धनगर जिले की सभी दमकल गाड़ियों और 42 एवं 43 मीटर के दो हाईड्रोलिक प्लेटफॉर्म को मौके पर बुला लिया गया। गाजियाबाद से अग्निशमन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर अमन शर्मा, गाजियाबाद के मुख्य अग्निशमन अधिकारी (सीएफओ) एआर शर्मा और हापुड़ के सीएफओ अनिमेष सिंह समेत नोएडा के पांच फायर स्टेशन के अग्निशमन अधिकारी (एफएसओ) ने 7 घंटे से ज्यादा देरी तक आग को काबू करने का प्रयास किया। 

देर शाम राहत और बचाव कार्य शुरू हो सका
देर शाम आग की भयावहता कम होने पर राहत व बचाव कार्य शुरू किया गया। इसके लिए नोएडा के सभी थानों के प्रभारी निरीक्षकों को फोर्स के साथ मौके पर तैनात किया गया था। एसएसपी धर्मेन्द्र सिंह, एसपी सिटी दिनेश यादव और एएसपी गौरव ग्रोवर के साथ ही प्राधिकरण के अधिकारियों ने दिशा-निर्देश में राहत व बचाव कराया।

बुरी तरह जल गए थे शव
शाम करीब छह बजे इमारत से छह शव बरामद किए गए, इनमें एक शव महिला का था। आग में बुरी तरह जलने की वजह से शवों की शिनाख्त नहीं हो पा रही है। पुलिस देर रात तक शवों की शिनाख्त की कोशिश कर रही थी। 

पांच खामी

  • -कंपनी में आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम नहीं थे
  • -फंसे हुए कर्मचारियों को समय से मदद नहीं मिली 
  • -दमकल की गाड़ियां देरी से मौके पर पहुंची थीं 
  • -एक हाईड्रोलिक मशीन का पानी का पाइप हट गया, मशीन काम नहीं आई
  • -कंपनी के अंदरूनी फायर फाइटिंग सिस्टम ने काम नहीं किया

पांच खूबी

  • -42 मीटर और 32 मीटर हाईड्रोलिक प्लेटफार्म ने तेजी से आग बुझाई 
  • -दमकल कर्मचारियों ने साहस का परिचय देते हुए बचाव कार्य किया
  • -वाटर ब्राउजर लगातार मौके पर पानी की आपूर्ति में जुटे रहे
  • -पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों को इमारत से दूर रखा
  • -मौके पर मौजूद लोगों ने दमकल कर्मचारियों के पाइप पकड़कर मदद की
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:noida company fire 50 out of 20 employee were present at that time