class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

MCD चुनावः VVPAT मशीनों की उपलब्धता पर EC को हाईकोर्ट का नोटिस

MCD चुनावः VVPAT मशीनों की उपलब्धता पर EC को हाईकोर्ट का नोटिस

दिल्ली हाईकोर्ट ने आज कहा कि वह चुनाव आयोग के समक्ष वीवीपीएटी से जुड़े ईवीएम की उपलब्धता को जाने बिना आगामी एमसीडी चुनावों में इन मशीनों के इस्तेमाल का निर्देश नहीं दे सकता।

न्यायमूर्ति ए के पाठक ने चुनाव आयोग और दिल्ली राज्य निवार्चन आयोग को नोटिस जारी करके उन्हें आम आदमी पार्टी की याचिका पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया। आम आदमी पार्टी ने एमसीडी चुनावों में वीवीपीएटी (वोटर—वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) से लैस दूसरी और तीसरी पीढ़ी के ईवीएम का इस्तेमाल किए जाने की मांग की है।

न्यायाधीश ने हालांकि कहा कि आखिरी समय में एमसीडी चुनावों को रोकने के लिए कोई निर्देश नहीं जारी कर सकता।

अदालत ने कहा, अगर मशीन उपलब्ध नहीं हैं तो हम प्रक्रिया के साथ हस्तक्षेप नहीं कर सकते।

अदालत ने कहा, चुनाव आयोग को दो दिन के भीतर हलफनामा दायर करके सूचित करने दें कि क्या वीवीपीएटी मशीन उसके पास उपलब्ध हैं या नहीं।

अदालत ने मामले पर अगली सुनवाई की तारीख 21 अप्रैल को निर्धारित की। अदालत मोहम्मद ताहिर हुसैन और आम आदमी पार्टी की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। हुसैन एमसीडी का चुनाव लड़ रहे हैं जबकि आम आदमी पार्टी ने हाल में आरोप लगाया था कि विभिन्न राज्यों में हाल में हुए विधानसभा चुनाव में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:hc notice to poll panels on availability of vvpat machines