class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेट्रो स्टेशन के पास इंजीनियर से मोबाइल लूटा

मेट्रो स्टेशन के पास इंजीनियर से मोबाइल लूटा

कौशांबी मेट्रो स्टेशन के पास शुक्रवार शाम बाइक सवार तीन बदमाशों ने एक इंजीनियर से मोबाइल लूट लिया। इंजीनियर मेट्रो स्टेशन से उतरने के बाद ऑटो पकड़ने जा रहे थे। घटना मेट्रो स्टेशन के पास एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। 

पश्चिम बंगाल के हावड़ा में कौशिक नंदी अपने परिवार के साथ रहते हैं। वह कोलकाता की एक निजी कंपनी में इंजीनियर हैं। कौशिक नंदी ने बताया कंपनी के काम से वह गाजियाबाद आए हैं। कौशांबी के एक होटल में उन्होंने कमरा बुक करा रखा है। शुक्रवार शाम चार बजे कौशांबी मेट्रो स्टेशन पर उतरे। वह होटल जाने के लिए ऑटो लेने जा रहे थे। इसी दौरान उनके एक दोस्त को फोन आ गया। वह बात करते हुए आगे बढ़ने लगे। इसी दौरान एक बाइक पर सवार तीन बदमाश आए और उनका मोबाइल झपटकर भाग निकले। मोबाइल झपटते समय बदमाश के नाखून से उनके चेहरे पर खरोंच आ गई। इसके बाद उन्होंने राहगीरों की मदद से अहिंसाखंड निवासी अपने दोस्त वीरभान को फोन कर बुलाया। वीरभान ने पुलिस कंट्रोल में सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मेट्रो स्टेशन के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की जांच की तो एक कैमरे में तीनों बदमाशों की तस्वीरें कैद थीं। पीड़ित ने बताया कि बाइक की नंबर प्लेट पर एक अक्षर बड़ा तो दूसरा छोटा लिखा था। इससे वे नंबर नहीं पढ़ पाए। पुलिस सीसीटीवी फुटेज से नंबर पता कर रही है। 

लुटेरों ने बैंक कर्मचारी को धक्का देकर गिराया
डीएलएफ कॉलोनी में शिवाकर अपने परिवार के साथ रहते हैं। वह एक निजी बैंक में कार्यरत हैं। शिवाकर ने बताया कि गुरुरवार रात को वह बाजार से पैदल घर लौट रहे थे। इसी दौरान एक दोस्त का फोन आ गया। वह बात करते हुए घर की ओर बढ़ने लगे। इसी दौरान बाइक सवार दो बदमाश आए और उनका मोबाइल छीनने लगे। उन्होंने इसका विरोध किया तो बदमाशों ने धक्का देकर किया दिया और मोबाइल छीन लिया। उन्होंने शोर मचाने का प्रयास किया तो बदमाश ने तमंचा दिखाकर उसे चुप करा दिया। इसके बाद बदमाश तेजी से दिल्ली की ओर भाग निकले। इसके बाद वह घर पहुंचे और पुलिस पुलिस कंट्रोल रूम में मामले की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ की, मगर बदमाशों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। एएसपी अनूप सिंह ने बताया कि बदमाशों को पकड़ने के लिए आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे है। जल्द ही बदमाशों को पकड़ लिया जाएगा। 

डीएलएफ में नहीं थम रही लूट की वारदात
दिल्ली से सटे होने के चलते डीएलएफ कॉलोनी में लूट की वारदात नहीं रुक रही हैं। वारदात करने के बाद दो-तीन मिनट में बदमाश दिल्ली में चले जाते है। इसके बाद बदमाशों गाजियाबाद पुलिस को दिल्ली में जाकर पकड़ना संभव नहीं हो पता है। पांच अप्रैल को डीएलएफ कॉलोनी में पूजा से मोबाइल, 28 मार्च को युवती से मोबाइल लूट, एक महिला से चेन लूट समेत पिछले दो महीने में बदमाश दस वारदात को अंजाम दे चुके हैं मगर पुलिस एक भी मामले का खुलासा नहीं कर सकी है। वहीं पुलिस दिल्ली सीमा पर सुरक्षा भी कड़ी नहीं कर रही है। 

पुलिस चौकी के आगे से भागते हैं बदमाश 
भोपुरा तिराहे के आसपास लूट की वारदात करने वाले अधिकांश बदमाश तुलसी निकेतन चौकी के आगे से दिल्ली में भागते है। चौकी से करीब 50 मीटर की दूरी पर दिल्ली सीमा है। मगर पुलिस चौकी के आगे दिल्ली-वजीराबाद रोज पर बैरिकेडिंग कर जांच नहीं की जाती है। इसके चलते बदमाशों को भागने में आसानी रहती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:engineer mobile robbery near metro station