class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए सत्र के लिए कॉलेजों में तैयार होने लगी डिजिटल विंग

नए सत्र के लिए कॉलेजों में तैयार होने लगी डिजिटल विंग

कहीं छात्र काउंसलर्स की टीम ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया को आसान बनाएगी, तो कहीं आईटी कमेटी दाखिले के दौरान छात्रों की मदद करेगी। सत्र 2017-18 में केंद्रीयकृत दाखिला प्रक्रिया को लेकर कॉलेजों में  डिजिटल विंग तैयार होने लगी है। दरअसल, इस बार कॉलेजों में दाखिला प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन रहेगी। ऐसे में राजकीय और निजी कॉलेजों में तैयारियां जारी हैं। 

गौरतलब है कि प्रदेशभर के कॉलेजों में इस बार केंद्रीयकृत दाखिला प्रणाली के तहत दाखिले होंगे। उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से राजकीय कॉलेजों के बाद सरकारी सहायता प्राप्त और स्ववित्तपोषित संस्थानों को भी इस बाबत निर्देश दिए जा चुके हैं। निर्देशों के मुताबिक संस्थानों में ऑनलाइन दाखिला और काउंसलिंग प्रक्रिया अपनाई जाएगी। 

डिजिटल विंग संभालेगी दाखिले की कमान
कॉलेजों में दाखिला प्रक्रिया पूरी करने के लिए डिजिटल विंग की तैनाती होगी। जिन कॉलेजों में पहले ही ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया मौजूद है वहां संंबंधित सदस्य तैयारी में लग चुके हैं। वहीं जिन कॉलेजों में पहली बार दाखिला प्रक्रिया ऑनलाइन होगी वहां आईटी एक्सपट्र्स, काउंसलर्स, हेल्परों की नियुक्ति की जा रही है। 

सीनियर छात्रों को भी मिलेगी ट्रेनिंग
कॉलेजों में दाखिले के लिए आने वाले छात्रों की मदद के लिए संस्थान के सीनियर छात्रों का पैनल भी तैयार होगा। कॉलेजों में दाखिले के दौरान छात्रों को सलाह देने के लिए हेल्पडेस्क लगाए जाएंगे। इनमें शिक्षकों के साथ छात्रों को भी शामिल किया जाएगा। इसके लिए छात्रों की ओर से आवेदन मांगे गए हैं। 

दाखिले को होगी विशेष प्रतिनिधि की नियुक्ति
विमला विश्नोई, प्राचार्या, नेहरू कॉलेज: पहले ही तरह दाखिला प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी। पूरी प्रक्रिया की निगरानी के लिए एक विशेष प्रतिनिधि तैनात रहेगा। इसके अलावा दाखिले को आने वाले छात्रों की काउंसलिंग करने, आवेदन प्रक्रिया समझाने और दूसरी मदद के लिए अलग-अलग सेल बनाए जाएंगे। 

डॉ. वंदना मोहला, प्राचार्या, केएल मेहता दयानंद कॉलेज: अभी तक दाखिले ऑफलाइन होते थे। विभाग के आदेशानुसार इस बार प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी। कंप्यूटर विभाग के शिक्षकों को डिजिटल विंग की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। छात्रों को कोई परेशानी ना हो इसके लिए हेल्पडेस्क लगेंगे। वहीं मौके पर काउंसलर्स भी मौजूद रहेंगे।

कॉलेजों पर एक नजर
15 हजार करीब छात्र पढ़ते है कॉलेजों में
09 है फरीदाबाद और पलवल में कुल कॉलेज
04 है राजकीय कॉलेजों की संख्या
03 है निजी कॉलेजों की संख्या

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:digital wing started in colleges for new season