Image Loading delhi subordinate services selection board not hiring staff from 17 years - LiveHindustan.com
रविवार, 25 सितम्बर, 2016 | 02:26 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • जम्मू में आतंकियों के 2 गाइड गिरफ्तार
  • केरल LIVE: आतंकवाद को एक्सपोर्ट कर रहा पाकिस्तान : PM मोदी
  • केरल LIVE: PM मोदी का पाक पर हमला, कहा- एक देश खून खराबा करने में लगा
  • केरल के कोझिकोड की रैली में पीएम मोदी ने मलयालम में शुरू किया भाषण
  • KANPUR TEST: तीसरे दिन का खेल खत्म, मुरली-पुजारा की नाबाद फिफ्टी, भारत-159/1
  • बिहार: पटना जिले के फतुहा में एएसआई आरआर चौधरी को बदमाशों ने गोली मारी, मौत
  • KANPUR TEST: केएल राहुल 38 रन बनाकर आउट, भारत-52/1
  • KANPUR TEST: न्यूजीलैंड की पारी 262 पर सिमटी, भारत को 56 रनों की बढ़त
  • इराक की राजधानी बगदाद में तीन आत्मघाती बम धमाके, 11 सुरक्षा कर्मियों की मौत: AP
  • कानपुर टेस्ट: न्यूजीलैंड का छठा विकेट गिरा, स्कोर-255/6

निगम में 17 साल से नहीं हुई भर्तियां, दो साल बाद नहीं बचेंगे कर्मचारी

नई दिल्ली, प्रमुख संवाददाता First Published:23-09-2016 09:32:59 PMLast Updated:23-09-2016 09:32:59 PM
निगम में 17 साल से नहीं हुई भर्तियां, दो साल बाद नहीं बचेंगे कर्मचारी

दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) की तरफ से 17 साल से निगम में कर्मचारियों की भर्ती नहीं हुई है। जिसकी वजह से पूर्वी निगम के पार्षद ही नहीं विभाग के अधिकारी भी बेहद परेशान हैं, क्योंकि कर्मचारियों की कमी की वजह से डेंगू, चिकनगुनिया और सेनिटेशन की हालत किसी से छिपी नहीं है। लेकिन दो साल बाद पूर्वी निगम की हालत और भी खस्ता हो जाएगी, क्योंकि 300 कर्मचारी सेवानिवृत होने हैं और उसके बाद निगम के कुछ विभागों में काम के लिए एक भी आदमी भी नहीं होगा।

पूर्वी निगम स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के मुताबिक त्रिलोकपुरी वार्ड नंबर में हालत इतने चौपट हैं कि यहां सफाई कर्मचारी को पदोन्न्त कर सहायक सेनेटरी इंस्पेक्टर बना दिया और उसी के भरोसे पूरे वार्ड की स्वच्छता का अभियान चलाया जा रहा है। ऐसी ही हालत सबोली वार्ड की है जहां मात्र दो कर्मचारी अभियान में अपना योगदान दे रहे हैं। सफाई अभियान से जुड़े एक निरीक्षक का कहना है कि जमीनी हकीकत तो यह है कि पूर्वी निगम में सेनिटेशन में 50 प्रतिशत कर्मियों की इस समय कमी है। चंद कर्मचारियों के भरोसे आखिर कैसे यमुनापार के सभी वार्डों में डेंगू, चिकनगुनिया और स्वच्छता अभियान चलाया जा सकता है।

अभियान में जो 710 डीबीसी लगा रखे हैं वह भी सालों से स्थायी नहीं किये गए। पार्षद लता गुप्ता का कहना है कि निगम में वर्ष 1999 से दिल्ली अधीनस्थ सेवा बोर्ड ने कर्मियों की भर्तियां नहीं की है। वर्ष 2014 में मांग की गई थी कि निगम में सहायक मलेरिया इंस्पेक्टर और अन्य कर्मियों की भर्ती की जाए, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अगले दो साल में अधिकारी और कर्मचारी स्तर के करीब 300 कर्मी रिटायर हो जाएंगे। पूर्वी निगम के चेयरमेन जितेंद्र चौधरी भी इस बात से इत्तेफाक रखते हैं उनका कहना है कि मलेरिया इंस्पेक्टर, सहायक मलेरिया इंस्पेक्टर और निचले स्तर के एक भी कर्मचारी निगम में नहीं होंगे। इस संबंध में दिल्ली सरकार को एक प्रस्ताव भेजा रहा है ताकि कर्मचारियों की भर्ती समय रहते की जा सके।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: delhi subordinate services selection board not hiring staff from 17 years
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड