class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुसीबतों भरा रहा दिल्ली का Sunday, अगले 15 दिन मिलेगी राहत

मुसीबतों भरा रहा दिल्ली का Sunday, अगले 15 दिन मिलेगी राहत

हरियाणा में आरक्षण की मांग को लेकर पिछले 50 दिनों से प्रदर्शन कर रहे जाटों ने आंदोलन 15 दिन के लिए टाल दिया है। अब वे सोमवार को दिल्ली कूच नहीं करेंगे। दो केंद्रीय मंत्रियों और हरियाणा के सीएम मनोहरलाल खट्टर के साथ रविवार को मैराथन बैठक के बाद यह सहमति बनी। ऐसे में दिल्ली में अब मेट्रों सेवाएं बहाल रहेंगी। कोई स्टेशन बंद नहीं होगा। लेकिन रविवार का दिन दिल्ली के लिए बहुत ही मुसीबत भरा रहा। दिल्ली और हरियाणा में लोग कई घंटों तक जाम में फंसे रहे। कई एंबुलेंस जाम में फंसी रही।

सांकेतिक धरने जारी रहेंगे : अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समीति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि हमें सरकार के आश्वासन पर भरोसा है, पर सांकेतिक धरने जारी रहेंगे।

बैठक पांच घंटे चली : रविवार को जाट समुदाय व हरियाणा सरकार के बीच पांचवें दौर की बैठक हुई। यह 1 बजे शुरू हुई और शाम 6 बजे तक दो चरणों में चली। सरकार ने मांगें पूरी करने का भरोसा दिया। वहीं जाट नेता भी कानूनी प्रक्रिया पूरी होने तक शांत रहने पर राजी हुए।

केंद्र का भरोसा : यशपाल मलिक, अशोक बल्हारा और अन्य जाट नेताओं के साथ बातचीत करने वालों में मुख्यमंत्री खट्टर के अलावा केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह, विधि एवं न्याय राज्य मंत्री पीपी चौधरी थे। बैठक में पीपी चौधरी ने भरोसा दिया कि केंद्र सरकार सभी कानूनी पहलूओं को ध्यान में रखकर जाटों को आरक्षण की सुविधा देगी।

मेट्रो स्टेशन खुलेंगे : जाटों का दिल्ली कूच टलने के बाद मेट्रो प्रशासन ने मध्य दिल्ली के 12 स्टेशन बंद करने और एनसीआर के अन्य शहरों में मेट्रो परिचालन बंद करने के फैसले को वापस ले लिया। हालांकि सोमवार को एहतियातन केन्द्रीय सचिवालय, उद्योग भवन, पटेल चौक और लोक कल्याण मार्ग पर निकास सुविधा बंद रहेगी। इन स्टेशनों पर प्रवेश सुविधा मिलेगी।

जाट आंदोलन की आशंका के चलते रविवार को ही दिल्ली में जगह-जगह मार्गो में बदलाव और चेकिंग के कारण तमाम लोग जाम से जूझते रहे। यमुना पुल पर एक एंबुलेंस भी जाम में आधा घंटा फंसी रही। प्रदेश सरकार सभी जायज मांगों को मानने के लिए तैयार है। भविष्य में हरियाणा सरकार के वरिष्ठ अधिकारी और जाटों के बीच एक संयुक्त समिति काम करेगी, जो सभी मामलों में समन्वय करेगी।-मनोहर लाल खट्टर, सीएम, हरियाणा

मैं कह सकता हूं कि हमें सरकार की मंशा पर पूरा भरोसा है। हमने सरकार को आश्वासन दिया है कि जाटों का 20 मार्च का दिल्ली कूच कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है और जाट दिल्ली नहीं पहुंचेंगे। -यशपाल मलिक, जाट नेता
राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष की नियुक्ति के बाद आरक्षण प्रक्रिया तेज होगी। हम जाट समुदाय के लिए इस तरह आरक्षण सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वह कहीं कानूनी पचड़ों में न उलझ जाए। -पीपी चौधरी, केंद्रीय राज्य मंत्री

अदालत का फैसला आते ही राज्य में जाटों को संविधान की नौवीं अनुसूची के तहत आरक्षण की सुविधा मिलेगी’ वर्ष 2010 व 2017 के दौरान हुए आंदोलन में दर्ज मुकदमों की समीक्षा की जाएगी’ आंदोलन के दौरान मारे गए व्यक्तियों के आश्रितों तथा विकलांगों को स्थाई नौकरी’ अधिकारियों के दोषी पाए जाने पर त्वरित कार्रवाई की जाए’ जेलों में बंद युवाओं की रिहाई की समीक्षा को उपसमिति बने।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:delhi gets 15 days relief from jat agitation sunday tough time for city