Image Loading 10 lakh 40 thousand people not respond to income tax e-mail kc jain - Hindustan
रविवार, 23 अप्रैल, 2017 | 15:34 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • IPL10 #GLvKXIP: गुजरात ने जीता टॉस, पहले फील्डिंग करने का लिया फैसला
  • बॉलीवुड मिक्स: तो क्या सच में यूलिया की वजह से सलमान से दूरी बना रही हैं कैटरीना!...
  • टीवी गॉसिप: क्रिकेट छोड़ भज्जी ने किया पोल डांस। कपिल ने सुनील को कहा थैंक्स।...
  • नवी मुंबई: कार शोरूम में आग लगाने से दो लोगों की मौत
  • टॉप 10 न्यूज़: विडियो में देखें देश और दुनिया की अभी तक की बड़ी खबरें
  • स्पोर्ट्स स्टार: विराट की टीम को मजबूती, इस स्टार बल्लेबाज की हुई वापसी। पढ़ें...
  • बॉलीवुड मसाला: जिन्होंने शो छोड़ा कपिल ने उन्हें कहा शुक्रिया, देखें EMOTIONAL VIDEO।...
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर में आज रहेगी गर्मी। लखनऊ में छाए रहेंगे बादल। पटना,...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः कन्या राशि वालों को परिवार का सहयोग मिलेगा, नौकरी में तरक्की के बन...
  • सक्सेस मंत्र: काम को बोझ समझकर नहीं बल्कि पूरे मन और आनंद से करें
  • MCD चुनाव 2017: थोड़ी देर में शुरू होगा मतदान, 56 हजार सुरक्षाकर्मी करेंगे निगरानी
  • MIvDD : मुंबई ने दिल्ली को 14 रन से हराया

10.40 लाख लोगों ने आयकर के ई-मेल का जवाब नहीं दिया: केसी जैन

फरीदाबाद वरिष्ठ संवाददता First Published:20-03-2017 10:42:01 PMLast Updated:20-03-2017 10:42:01 PM
10.40 लाख लोगों ने आयकर के ई-मेल का जवाब नहीं दिया: केसी जैन

आयकर विभाग के उत्तर-पश्चिम क्षेत्र के प्रधान, मुख्य आयकर आयुक्त केसी जैन ने कहा है कि विमुद्रीकरण(नोटबंदी) के बाद बैंक खातों में जमा हुई नकदी के आधार पर ‘ऑपरेशन क्लीन मनी’ को लेकर 18 लाख लोगों को ई-मेल भेजकर जमा हुई नकदी का स्त्रोत बताने के लिए कहा था। इनमें से करीब 10 लाख 40 हजार लोगों ने विभाग को जवाब ही नहीं दिया है।

प्रधान, मुख्य आयकर आयुक्त सोमवार देर शाम सेक्टर-21सी स्थित होटल पार्क प्लाजा में उद्योगपतियों, इंकम टैक्स बार एसोसिएशन और चार्टर्ड अकाउंटटेंट की एसोसिएशन के सदस्यों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अभी तक सिर्फ 7.7 लाख लोगों ने ही विभाग को जवाब भेजा है। उन्होंने कहा कि लोग बेहिचक नोटिस का जवाब दें। तथ्य ठीक पाए गए तो संबंधित व्यक्ति को बिना बुलाए ही आयकर विभाग अगामी कार्रवाई बंद कर देगा। उन्होंने बताया कि विभाग ने 15 लाख से लेकर 50 लाख रुपये तक नकदी जमा करवाने वालों को ई-मेल और एसएमएस के जरिए नोटिस जारी किए गए थे। इस मौके पर प्रधान आयकर आयुक्त अनुराधा मुखर्जी ने कहा कि नोटिस का जवाब देने के लिए यदि कोई कागजात मांगा जाता है तो दफ्तर आने के बजाय ई-मेल के जरिए ही भेज दें। यदि किसी के पास अघोषित आय है तो 31 मार्च तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में जमा करवा दें। यह सरकार की ओर से अंतिम मौका है।

इस मौके पर उपस्थित लोगों ने विभाग की टीडीएस ब्रांच की कारगुजारियों का पिटारा खोल दिया। उनका कहना था कि मामूली रकम पर भी लोगों को नोटिस भेजकर मुकदमा दायर करने की धमकी दी जाती है। कुछ लोगों ने आयकर विभाग पर उनके लिखे पत्र का जवाब न देने का आरोप लगाया। इस अवसर पर आयकर आयुक्त (अपील ) मनु मलिक, ज्वाइंट कमिश्नर शशि काजले, राजेश कुमार, आयकर अधिकारी रामदत्त शर्मा, आरके सिंह आदि मौजूद थे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: 10 lakh 40 thousand people not respond to income tax e-mail kc jain
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड