Image Loading 1060 house seals of supertech jar society - Hindustan
मंगलवार, 25 अप्रैल, 2017 | 00:37 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • IPL10 #MIvRPS: पुणे ने लगाई जीत की हैट्रिक, मुंबई का विजयरथ रोक 3 रन से हराया
  • IPL10 #MIvRPS: 15 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर 113/4, क्रीज पर रोहित-पोलार्ड। लाइव कमेंट्री और...
  • IPL10 #MIvRPS: 5 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर 35/1, बटलर हुए आउट। लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के...
  • IPL10 #MIvRPS: पुणे ने मुंबई इंडियंस के सामने रखा 161 रनों का टारगेट
  • आपकी अंकराशि: 6 मूलांक वाले कल न लें जोखिम भरे मामलों में निर्णय, जानिए कैसा रहेगा...
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े देश और विदेश की आज की 10 बड़ी खबरें
  • IPL10 #MIvRPS: 10 ओवर के बाद पुणे का स्कोर 84/1, रहाणे हुए आउट। लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के...
  • धर्म नक्षत्र: फेंगशुई TIPS: घर को सजाएं इन फूलों से, भरा रहेगा घर पैसों से, पढ़ें...
  • IPL10 MIvRPS: 6 ओवर के बाद पुणे का स्कोर 48/0, क्रीज पर रहाणे-त्रिपाठी। लाइव कमेंट्री और...
  • रिश्ते में दरार: सलमान-यूलिया के बीच बड़ा झगड़ा, वजह जान चौंक जाएंगे, यहां पढ़े...
  • IPL10 #MIvRPS: मुंबई ने जीता टॉस, पहले फील्डिंग करने का लिया फैसला
  • हिन्दुस्तान Jobs: देना बैंक में भर्ती होंगे 16 सिक्योरिटी मैनेजर, सैलरी 45,950 तक, पढ़ें...
  • SC का आदेश: यूपी में हर साल 30 हजार कांस्टेबल की हो भर्ती, पढ़ें राज्यों से अब तक की 10...
  • छत्तीसगढ़: नक्सलियों के साथ हुए एनकाउंटर में CRPF के 11 जवान शहीद
  • सुप्रीम कोर्ट ने यूपी में 3,200 सब इंस्पेक्टर व 30000 कांस्टेबल हर साल भर्ती करने का...

सुपरटेक जार सोसायटी के 1060 मकान सील

ग्रेटर नोएडा। संवाददाता First Published:21-04-2017 07:34:46 PMLast Updated:21-04-2017 07:34:46 PM

इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर प्राधिकरण ने शुक्रवार को सुपरटेक बिल्डर के प्राजेक्ट जार सोसायटी में 1060 मकानों को सील कर दिया। इनमें 954 फ्लैट व 106 विला शामिल थे। कार्रवाई के दौरान आवंटियों और प्राधिकरण दस्ते के बीच विवाद भी हुआ।

सुपरटेक बिल्डर ने सेक्टर ओमीक्रान स्थित प्रोजेक्ट में निर्धारित फ्लैटों से ज्यादा टावर खड़े कर दिए थे। मामले को लेकर सोयायटी के लोगों ने उच्च न्यायालय में वाद दायर किया था। कई दौर की सुनवाई के बावजूद बिल्डर और प्राधिकरण का नियोजन विभाग उच्च न्यायलय को सही जानकारी नहीं दे रहा था। इससे नाराज होकर न्यायधीश ने बुधवार को मानचित्र से ज्यादा बने विला और फ्लैटों को सील करने का आदेश जारी कर दिया। इस पर कार्रवाई करते हुए प्राधिकरण के नियोजन और परियोजना विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को अधिक बने 1060 मकानों को सील कर दिया।

आवंटियों और दस्ते के बीच विवाद
फ्लैट सील किए जाने की कार्रवाई के दौरान प्राधिकरण दस्ते में शामिल अधिकारी और मौके पर मौजूद आवंटियों के बीच विवाद भी हुआ। दर्जनों विला ऐसी थीं जिनमें परिवार रह रहे थे। उन्हें दो दिन की मौहल देकर छोड़ दिया गया। सोसायटी के आवंटी जहां इस कार्रवाई को लेकर खुश थे वहीं मान्य मानचित्र से ज्यादा बने टावर में फ्लैट खरीदने वाले लोग काफी नाराज थे वे बिल्डर और प्राधिकरण अफसरों को लेकर काफी गाली गलौच कर रहे थे।

नियोजन विभाग सवालों के घेरे में
इस पूरे प्रकरण में जहां बिल्डर की जालसाजी उजागर हुई है वहीं प्राधिकरण का नियोजन विभाग भी सवालों के घेरे में आ गया है। कई आवंटी ऐसे थे जो प्राधिकरण से स्वीकृत मानचित्र की काफी दिखा रहे थे। उक्त कापी में करीब दो हजार फ्लैट व 106 विला स्वीकृत दर्शाए हुए थे जबकि कार्रवाई कर रहे अधिकारी जो फ्लैटों को सील कर रहे थे उनके पास मौजूद नक्शा दूसरा था।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: 1060 house seals of supertech jar society
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड