class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नए 500 और 2000 के नोट पहचानने में दृष्टिबाधित को हो रही है परेशानी

मुंबई, एजेंसियां
नए 500 और 2000 के नोट पहचानने में दृष्टिबाधित को हो रही है परेशानी

विभिन्न स्तर के दृष्टिबाधित लोग नए नोट को इस्तेमाल के अनुकूल नहीं पा रहे हैं क्योंकि छूकर उन्हें पहचान पाना मुश्किल हो रहा है। राष्ट्रीय दृष्टिबाधित संगठन (एनएबी) के एक अधिकारी ने बताया कि पांच सौ रुपये और दो हजार रुपये के नए नोट पर अंकों का पर्याप्त उभार नहीं है जिससे दृष्टिबाधित लोग उनमें भेद नहीं कर पा रहे हैं। 

एनएबी के राष्ट्रीय सचिव जोकिम रापोसे ने कहा, नवम्बर में 500 रुपये और एक हजार रुपये के नोट बंद करने का निर्णय करने के बाद मैंने केंद्र सरकार से संपर्क कर कहा कि सुनिश्चित किया जाए कि नए नोट में अंकों का पर्याप्त उभार हो ताकि अंगुलियों से उन्हें महसूस किया जा सके। उन्होंने कहा, मुझे बताया गया कि इस मांग को पूरा कर लिया जाएगा लेकिन अभी तक हमारी समस्या का समाधान करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है। 

रापोसे ने कहा, मुझे बाद में बताया गया कि नए नोट में आवश्यक बदलाव होंगे लेकिन अभी तक कोई बदलाव नहीं हुआ है। दृष्टिबाधितों के राज्य विकास और वित्त निगम के मुताबिक महाराष्ट्र में 5.74 लाख लोग दृष्टिबाधित हैं। सरकारी आंकड़े के मुताबिक देश में 80 लाख लोग हैं जो दृष्टिबाधित हैं। दुर्भाग्य से नए नोट प्रिंट करते वक्त उनके मुद्दों और समस्याओं को ध्यान में नहीं रखा जाता है। 

नकली नोट पर नकेल: नए फीचर के साथ 200 के नोट लाने की तैयारी   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:visually impaired are struggling with 500 and 2000 new notes