class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घूस से इनकार पर मरीज को व्हीलचेयर नहीं दिया

घूस से इनकार पर मरीज को व्हीलचेयर नहीं दिया

सरकार द्वारा संचालित गांधी अस्पताल में एक मरीज को घूस नहीं देने के कारण कथित तौर पर व्हीलचेयर देने से मना करने के मुद्दे की जांच कराने के लिए अस्पताल प्रशासन ने आज एक जांच समिति गठित की है।

व्हीलचेयर के अभाव में मरीज को अपने बेटे के ट्रायसाइकिल पर सवार होना पड़ा। मरीज गतिशीलता की गंभीर समस्याओं का सामना कर रहा है। 

पिछले साल अगस्त में करंट लगने से जल जाने की वजह से इलाज करा रहे एस राजू (40 वर्ष) की पत्नी संतोषी ने आरोप लगाया है कि उनके पास वार्ड ब्वॉय को घूस देने के लिए पैसे नहीं थे, जिसकी वजह से उन्हें व्हीलचेयर मुहैया नहीं कराया गया।

महिला ने आरोप लगाया कि वार्ड ब्वॉय ने 100—200 रुपये का घूस मांगा। महिला का कहना है कि कम से कम पांच मौके पर उसने घूस दिया भी है लेकिन बुधवार को उसके पास पैसे नहीं थे।

गांधी अस्पताल की अधीक्षक डाक्टर मंजूला ने बताया कि उनके पास कोई लिखित शिकायत नहीं आई है और उन्होंने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर इस मामले की जांच के लिए जांच समिति गठित की है। इसकी रिपोर्ट एक दिन में आ जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:unable to pay bribe for hospital wheelchair patient uses sons toy tricycle