Image Loading supreme court confirms ex haryana top cop sps rathore conviction in ruchika girhotra case - LiveHindustan.com
शनिवार, 01 अक्टूबर, 2016 | 14:09 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पाकिस्तान के पेशावर, गिलगिट, चिलास और इस्लामाबाद में भूकंप के झटके
  • KOLKATA TEST: कीवी टीम को लगा चौथा झटका, रोंकी को जडेजा ने किया आउट
  • KOLKATA TEST: कीवी टीम को लगा तीसरा झटका, भुवी ने निकोल्स को किया आउट
  • KOLKATA TEST: न्यूजीलैंड को लगातार दो झटके, ओपनर्स लौटे पवेलियन। स्कोर- 18/2
  • KOLKATA TEST: टीम इंडिया की पहली पारी 316 रनों पर सिमटी, साहा ने जड़ा पचासा
  • उरी आतंकी हमले की जांच पूरी होने तक ब्रिगेड कमांडर को हटाया गया: TV Reports
  • मां शैलपुत्री आज वो सबकुछ देंगी जो आप उनसे मांगेंगे, मां की ये कहानी जानकर आपको...
  • KOLKATA TEST: भारत को लगा आठवां झटका, जडेजा लौटे पवेलियन
  • KOLKATA TEST: भारत-न्यूजीलैंड के बीच दूसरे दिन का खेल शुरू
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली-NCR में आज गर्मी रहेगी। पटना, रांची और लखनऊ में मौसम साफ रहेगा।...
  • इस नवरात्रि आपको क्या होगा लाभ और कितनी होगी तरक्की, अपना राशिफल पढ़ने के लिए...
  • जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान की ओर से अखनूर सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन, सुबह 4 बजे...
  • नवरात्रि: आज होगी मां शैलपुत्री की पूजा, जानिए आरती और पूजन विधि-विधान
  • सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देशभर में हाई अलर्ट, नीतीश सरकार को बड़ा झटका,...

रुचिका गिरहोत्रा केसः पूर्व DGP SPS राठौड़ की सजा बरकरार, लेकिन नहीं जाना होगा जेल

नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान First Published:23-09-2016 11:24:47 AMLast Updated:23-09-2016 01:39:40 PM
रुचिका गिरहोत्रा केसः पूर्व DGP SPS राठौड़ की सजा बरकरार, लेकिन नहीं जाना होगा जेल

सुप्रीम कोर्ट ने नवोदित टेनिस खिलाड़ी रुचिका गिरहोत्रा आत्महत्या मामले में हरियाणा के पूर्व पुलिस महानिदेशक एसपीएस राठौड़ को आज दोषी करार दिया, लेकिन उनकी सजा कम कर दी।

न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने इस मामले में भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के पूर्व अधिकारी की अपील पर फैसला सुनाते हुए इस मामले में पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा दोषी ठहराये जाने के फैसले को बरकरार रखा।

हालांकि न्यायालय ने उच्च न्यायालय द्वारा राठौड़ को दी गई डेढ़ साल की सजा कम करके अब तक जेल में काटी सजा के साथ समायोजित कर दिया। राठौड़ ने पांच माह जेल में बिताये थे।

सीबीआई की विशेष अदालत ने राठौड़ को दोषी करार देते हुए छह माह की जेल की सजा सुनायी थी। उच्च न्यायालय ने अपराधी घोषित करने के निचली अदालत के फैसले को सही ठहराते हुए सजा की अवधि छह माह से डेढ़ साल कर दी थी, जिसे राठौड़ ने शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी।

गौरतलब है कि 11 नवम्बर 2010 को न्यायमूर्ति पी सदाशिवम (अब सेवानिवृत्त) की पीठ ने राठौड़ की अपील के निपटारे तक उसे जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया था। चौदह वर्षीय रुचिका ने 20 अगस्त 1990 को राठौड़ के खिलाफ उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था। राठौड़ हरियाणा लॉन टेनिस एसोसिएशन का अध्यक्ष भी था। मामला दर्ज कराने के कारण उसे अनुशासनहीनता के आरोप में स्कूल से भी निकाल दिया गया था। तीन साल बाद दिसम्बर 1993 में उसने जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी।

ये भी पढ़ेंः देश की सभी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

ये भी पढ़ेंः दुनिया की सभी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: supreme court confirms ex haryana top cop sps rathore conviction in ruchika girhotra case
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड