Image Loading pak army chief signs death warrants of 30 hardcore militants - Hindustan
सोमवार, 24 अप्रैल, 2017 | 11:01 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • स्पोर्ट्स स्टार: RCB कप्तान विराट ने मैच के बाद कहा, 'ये इतना बुरा था कि अभी..' यहां...
  • बॉलीवुड मसालाः बाहुबली-2 का पहला गाना आया और इंटरनेट पर मच गया धमाल, इसके अलावा...
  • टॉप 10 न्यूज: सुबह 9 बजे तक देश-दुनिया की खबरें एक नजर में
  • हेल्थ टिप्स: गर्मियों में रोजाना पीयें मट्ठा, कैलोरी व फैट रखेगा नियंत्रित
  • ओपिनियनः पढ़ें मिंट के संपादक आर सुकुमार का लेख- स्टार्ट-अप में उतार-चढ़ाव का दौर
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना और रांची में आज रहेगी गर्मी। देहरादून में...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः वृष राशि वालों को माता-पिता का सानिध्य एवं सहयोग मिलेगा। नौकरी में...
  • सक्सेस मंत्र: खुद पर विश्वास रखेंगे तो जरूर आगे बढ़ेंगे
  • टॉप 10 न्यूज: देश-दुनिया की खबरें पढ़ें एक नजर में
  • KKRvRCB: कोलकाता ने बैंगलोर को 82 रन से हराया

पाक सेना प्रमुख ने 30 खूंखार आतंकवादियों की मौत की सजा की पुष्टि की

इस्लामाबाद, एजेंसी First Published:19-04-2017 11:10:56 PMLast Updated:19-04-2017 11:10:56 PM
पाक सेना प्रमुख ने 30 खूंखार आतंकवादियों की मौत की सजा की पुष्टि की

पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने गुरुवार को 30 खूंखार आतंकवादियों की मौत की तामील के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए। विवादित विशेष सैन्य अदालतों ने इन आतंकियों को 2014 में पेशावर के आर्मी पब्लिक स्कूल में हुए हमले सहित कई आतंकी मामलों में उनकी संलिप्तता के लिए दोषी करार दिया था।

सेना की मीडिया शाखा इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने कहा कि ये आतंकवादी फ्रंटियर कांस्टेबुलरी के कर्मियों के अपहरण एवं हत्या, सैदू शरीफ हवाईअडडे पर हमले, निदोर्ष नागरिकों की हत्या, पाकिस्तान के सशस्त्र बलों एवं विधि प्रवर्तन एजेंसियों पर हमले सहित कई बर्बर आतंकी अपराधों में शामिल थे।

देश में आतंकी हमलों में आयी तेजी के बीच दो साल की अवधि के लिए गत 31 मार्च को पाकिस्तान की विवादित विशेष सैन्य अदालतों को बहाल किया गया। इन अदालतों खूंखार आतंकियों के खिलाफ मुकदमा चलाया जाता है। पेशावर के स्कूल में तालिबान के हमले के बाद जनवरी, 2015 में सैन्य अदालतों का गठन किया गया था। इस हमले में 150 लोग मारे गए थे जिनमें अधिकतर बच्चे थे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: pak army chief signs death warrants of 30 hardcore militants
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड