Image Loading nagrota army india terrorism pakistan talks - Hindustan
सोमवार, 16 जनवरी, 2017 | 22:50 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • अखिलेश यादव को मिला साइकिल चुनाव चिन्ह, चुनाव आयोग ने दिया फैसला।
  • भाजपा ने यूपी विधानसभा चुनाव के प्रथम और दूसरे चरण के लिए 149 उम्मीदवारों की सूची...
  • भाजपा ने उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए अपने 64 उम्मीदवारों की सूची जारी की
  • ATM से अब एक बार में निकाल सकेंगे 10 हजार रुपये, लेकिन सप्ताह में 24 हजार की लिमिट कायम
  • ऋषिकेश: जिसने तिरंगे के लिए सीने पर 3 गोली खाई, उनकी फोटो मोदी जी ने हटा दी- राहुल...
  • मुलायम सिंह यादव ने कहा, साइकिल चुनाव चिन्ह नहीं मिला तो अलग निशान पर लड़ेंगे...
  • नवजोत सिंह सिद्धू बोले, मैं पैदायशी कांग्रेसी हूं, मेरा अस्तित्व कांग्रेस से...
  • 1984 दंगा: सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र सरकार को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश...

आतंक के माहौल में पाक से वार्ता नहीं हो सकतीः भारत

नई दिल्ली, एजेंसी First Published:01-12-2016 09:18:08 PMLast Updated:01-12-2016 09:18:08 PM
आतंक के माहौल में पाक से वार्ता नहीं हो सकतीः भारत

नगरोटा में सेना के शिविर पर हमले के मद्देनजर सख्ती से पेश आते हुए भारत ने गुरुवार को स्पष्ट कर दिया कि आतंकवाद जारी रहने के माहौल में पाकिस्तान के साथ वार्ता नहीं हो सकती, जिसे द्विपक्षीय संबंध में नई सामान्य स्थिति के रूप में भारत कभी नहीं स्वीकार करेगा।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने यह भी कहा कि अगले कदमों पर फैसला करने से पहले सरकार नगरोटा हमले के बारे में विस्तृत जानकारी का इंतजार कर रही है। उन्होंने कहा कि लेकिन मैं इस बात पर जोर देना चाहुंगा कि सरकार ने इस घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उसे जो भी जरूरी लगेगा वह किया जाएगा।

यह पूछे जाने पर कि क्या अमृतसर में तीन और चार दिसंबर को होने वाले हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन से इतर द्विपक्षीय वार्ता होगी, उन्होंने बताया, हमें द्विपक्षीय बैठक के लिए पाकिस्तान से कोई अनुरोध नहीं मिला है। स्वरूप ने कहा कि भारत हमेशा से बातचीत के लिए तैयार रहा है, लेकिन बेशक यह वार्ता आतंकवाद के जारी रहने के माहौल में नहीं हो सकती। भारत जारी आतंकवाद को द्विपक्षीय संबंध में नयी सामान्य स्थिति के रूप में कभी स्वीकार नहीं करेगा। सम्मेलन से दो दिन पहले भारत की तीखी टिप्पणी आई है। सम्मेलन में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज करेंगे।

इससे पहले पाक मीडिया में आई खबरों में अधिकारियों के हवाले से बताया गया था कि अफगानिस्तान पर होने वाले इस सम्मेलन से इतर कोई द्विपक्षीय बैठक नहीं होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी रविवार को संयुक्त रूप से मंत्रीस्तरीय वार्ताओं की शुरुआत करेंगे जहां भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वित्त मंत्री अरुण जेटली करेंगे क्योंकि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अस्वस्थ हैं।

पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए स्वरूप ने कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसका सीमा पार से आतंकवाद चलाने का लंबा इतिहास है और जिसे वह अपनी शासन नीति का औजार मानता है तथा इसी वजह से इस्लामाबाद शेष अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से अलहदा है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: nagrota army india terrorism pakistan talks
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड