Image Loading indo-pak border tunnel special equipment israel - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 15:08 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • दिल्लीः एक्सिस बैंक के चांदनी चौक ब्रांच में 8 नवंबर से अब तक अलग-अलग खातों में 450...
  • पटना से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस हुई रद। संपूर्ण क्रांति नियमित रूप...
  • INDvsENG 4th TEST: दूसरे दिन का टी-ब्रेक, भारत का स्कोर 62/1
  • नोटबंदी नीति की गोपनीयता पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब
  • INDvsENG: इंग्लैंड की पारी 400 रनों पर सिमटी, अश्विन ने छह और जडेजा ने लिए चार विकेट
  • अभी कितनी ट्रेनें देरी से चल रही हैं और कितनी हैं रद्द। ताजा हाल जानने के लिए...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा 9वां झटका, बॉल को अश्विन ने किया OUT
  • नोटबंदी भारत का सबसे बड़ा घोटाला है, सरकार चर्चा से घबरा रही हैः राहुल गांधी
  • नोटबंदी को लेकर विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही 11.30 बजे तक के लिए...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा 8वां झटका, राशिद को जडेजा ने किया OUT
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा सातवां झटका, वोक्स को जडेजा ने किया OUT
  • सेना को विवाद में घसीटने से दुखी रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने प.बंगाल की...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा छठा झटका, स्टोक्स को अश्विन ने किया OUT
  • मौसम अलर्टः उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड। दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, रांची और...
  • मिथुन राशिवालों की तरक्की के मार्ग खुलेंगे, आय बढ़ेगी। क्या कहते हैं आपके...
  • ये TIPS आजमाएंगे तो तुरंत दूर होगी एसिडिटी, जानें ये 5 जरूरी बातें
  • घने कोहरे के कारण 67 ट्रेनें लेट, 30 ट्रेनों के समय में बदलाव और दो ट्रेनें रद्द की...
  • GOOD MORNING: अब कर्मचारियों को वेतन से PF कटवाना जरूरी नहीं होगा, देश-दुनिया की बड़ी...

इजरायल से लाया जाएगा सुरंग खोजने का उपकरण

नई दिल्ली। पंकज कुमार पाण्डेय First Published:02-12-2016 01:05:24 AMLast Updated:02-12-2016 01:05:24 AM

भारत-पाक सीमा पर सुरंगों की तलाश करने के लिए विशेष उपकरण [ टनल डिटेक्शन सिस्टम] इजरायल से लाने की तैयारी है। भारत सरकार इस संबंध में इजरायल से बातचीत कर रही है। अभी तक हमारे यहां सुरंग तलाशने की कोई तकनीक उपलब्ध नहीं है। अमेरिका और इजरायल के पास ही इस तरह के उपकरण हैं। लेकिन अमेरिका की तुलना में इजरायल का उपकरण ज्यादा कारगर है। बीएसएफ सूत्रों ने कहा कि मैक्सिको से अमेरिका तक खोदी गई सुरंग का पता लगाने के लिए इजरायली उपकरणों की मदद ली गई थी। इसके जरिए काफी समय बाद सुरंग का पता लगाया जा सका था।

महंगी है तकनीक
अभी तुरंत करीब पांच उपकरण अंतरराष्ट्रीय सीमा पर और दस उपकरण नियंत्रण रेखा पर चाहिए। एक उपकरण की कीमत तीन से पांच करोड़ रुपए के बीच बताई जा रही है। टनल डिटेक्शन उपकरण जमीन के अंदर सीस्मिक बदलावों का पता लगाता है। यह जमीन के भीतर 200 से 250 गज की गहराई तक होने वाले सीस्मिक बदलावों का पता लगा सकता है। इनसे भी भारत-पाक की लंबी सीमा पर सुरंगों को खोज पाना दुरूह काम है। इसके लिए बड़ी संख्या में सीमा सुरक्षा बल के जवानों की विशेष टीम को जगह जगह तैनात करना होगा। यह टीम उपकरण को अलग अलग जगहों पर ले जाकर सुरंग का पता लगाने का प्रयास करना होगा। बीएसएफ के पूर्व एडीजी पी के मिश्रा ने कहा कि इस उपकरण के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के लंबे चौड़े दायरे में सुरंग की तलाश करना आसान नहीं है।

सफलता दर को लेकर आश्वस्त नहीं
सूत्रों ने कहा, इस उपकरण को भारतीय भौगोलिक परिस्थिति में कितना उपायोग किया जा सकता है इसका परीक्षण किया जा रहा है। सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े सूत्रों का मानना है कि भारत और इजरायल की सीमाओं की प्रकृति अलग अलग है। इसमें समेकित रणनीति बनाकर प्रयास करना होगा। अकेले टनल डिटेक्शन सिस्टम से काम नहीं होगा। अमेरिका में भी यह सिस्टम कई बार विफल होता है। बीएसएफ के पूर्व एडीजी पी के मिश्रा ने कहा कि हमें बहु उद्देश्यीय रणनीति बनानी होगी। अंडरग्राउंड सेंसर, लेजर बाड़, टनल डिटेक्शन सिस्टम, राडार, थर्मल इमेजिंग उपकरण आदि लगाकर पूरी सीमा को तकनीकी निगरानी से लैस करना होगा। बीएसएफ प्रमुख के के शर्मा का मानना है कि वर्ष 2017 तक हमारी सीमा काफी हद तक स्मार्ट तकनीकी से लैस हो जाएगी।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: indo-pak border tunnel special equipment israel
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड