Image Loading india ranks 122nd in world happiness report - Hindustan
मंगलवार, 28 मार्च, 2017 | 21:26 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े अब तक की 10 बड़ी खबरें
  • धर्म नक्षत्र: पढ़ें आस्था, नवरात्रि, ज्योतिष, वास्तु से जुड़ी 10 बड़ी खबरें
  • अमेरिका के व्हाइट हाउस में संदिग्ध बैग मिलाः मीडिया रिपोर्ट्स
  • फीफा ने लियोनल मैस्सी को मैच अधिकारी का अपमान करने पर अगले चार वर्ल्ड कप...
  • बॉलीवुड मसाला: अरबाज के सवाल पर मलाइका को आया गुस्सा, यहां पढ़ें, बॉलीवुड की 10...
  • बडगाम मुठभेड़: CRPF के 23 और राष्ट्रीय राइफल्स का एक जवान पत्थरबाजी के दौरान हुआ घाय
  • हिन्दुस्तान Jobs: बिहार इंडस्ट्रियल एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी में हो रही हैं...
  • राज्यों की खबरें : पढ़ें, दिनभर की 10 प्रमुख खबरें
  • टॉप 10 न्यूज़: पढ़े देश की अब तक की बड़ी खबरें
  • यूपी: लखनऊ सचिवालय के बापू भवन की पहली मंजिल में लगी आग।
  • पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी को हार्ट में तकलीफ के बाद लखनऊ के अस्पताल...

Happiness INDEX: पाकिस्तान और नेपाल से ज्यादा दुखी हैं भारतीय 

संयुक्त राष्ट्र, एजेंसी  First Published:21-03-2017 06:23:04 AMLast Updated:21-03-2017 07:02:39 AM
Happiness INDEX: पाकिस्तान और नेपाल से ज्यादा दुखी हैं भारतीय 

संयुक्त राष्ट्र की एक रपट के अनुसार, सर्वाधिक खुशहाल देशों की वैश्विक सूची में भारत 122वें पायदान पर पाया गया है। जबकि आतंकवाद से त्रस्त पाकिस्तान और गरीबी से जूझ रहे नेपाल इस सूचकांक में भारत से बेहतर स्थिति में हैं।

सोमवार को जारी रपट के अनुसार, भारत तीन पायदान नीचे सरक आया है, क्योंकि पिछले वर्ष यह 118वें स्थान पर था। यह दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन दक्षेस के अधिकांश देशों से पीछे था। हालांकि संकटग्रस्त अफगानिस्तान 141वें स्थान पर था।

दक्षेस के आठ देशों में पाकिस्तान 80 वें स्थान पर, नेपाल 99वें, भूटान 97वें, बांग्लादेश 110वें, जबकि श्रीलंका 120वें स्थान पर है। हालांकि मालदीव को विश्व खुशहाली रपट में जगह ही नहीं मिल पाई है।

इस बार नावेर् ने डेनमार्क को पीछे धकेलते हुए दुनिया के सर्वाधिक खुश देशों में पहले स्थान पर पहुंच गया है। यह स्कैंडिनेवियाई देश पिछले वर्ष की सूची में चौथे स्थान पर था, लेकिन इस बार वह कई प्रमुख गणनाओं के आधार पर शीर्ष स्थान पर पहुंच गया। इनमें देखभाल, जीवन के निर्णय लेने की आजादी, मिलनसारता, अच्छे शासन, ईमानदारी, स्वास्थ्य और आय के स्तर को आधार बनाया गया।

वार्षिक विश्व खुशहाली रपट में जिन कारकों से 155 देशों को मापा गया, उनमें गैरबराबरी, जीवन प्रत्याशा, प्रति व्यक्ति जीडीपी, लोक विश्वास (यानी भ्रष्टाचार मुक्त सरकार और व्यापार), और सामाजिक समर्थन जैसे कारक शामिल रहे।

विश्व खुशहाली रपट में डेनमार्क, आइसलैंड, स्विटजरलैंड और फिनलैंड शीर्ष पांच देशों में शामिल हैं, जबकि मध्य अफ्रीकी गणराज्य अंतिम पायदान पर है। सीरिया का स्थान 155 देशों में 152वां है। जबकि यमन और दक्षिण सूडान क्रमश: 146वें और 147वें स्थान पर हैं।

अजीब त्योहार : यहां चंद पैसों के लिए दांत से काटते बैंलों की पूंछ

पड़ोसी हमसे बेहतर
भारत के मुकाबले पड़ोसी देश इस मामले में बेहतर हैं। इस सूची में चीन 79वें, पाकिस्तान 80वें, नेपाल 99वें स्थान पर है। वहीं बांग्लादेश 110वें, इराक 117वें और 120 वें पायदान पर श्रीलंका भारत से अधिक खुशहाल देशों में शुमार हैं।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: india ranks 122nd in world happiness report
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड