Image Loading for development india needs a movement pm - Hindustan
गुरुवार, 30 मार्च, 2017 | 00:35 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पढ़ें रात 11 बजे की टॉप खबरें, शुभरात्रि
  • आपकी अंकराशि: जानिए कैसा रहेगा आपका कल का दिन
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े अब तक की 10 बड़ी खबरें
  • संशोधनों के साथ सीजीएसटी बिल लोकसभा में पास
  • जीएसटी से संबंधित सभी चार बिल लोकसभा में पास
  • धर्म नक्षत्र: नवरात्रि, ज्योति, फेंगशुई से जुड़ी 10 खबरें
  • बॉलीवुड मसाला: करण जौहर के बच्चों को मिली हॉस्पिटल से छुट्टी, यहां पढ़ें,...
  • हिन्दुस्तान Jobs: असिस्टेंट इंजीनियर के 54 पद रिक्त, बीटेक पास करें आवेदन
  • योगी बोले, लोग संतों को भीख नहीं देते, मोदी ने मुझे यूपी सौंप दिया, पढ़ें राज्यों...
  • टॉप 10 न्यूज़: पढ़े अब तक की देश की बड़ी खबरें
  • योग महोत्सव में बोले सीएम योगी आदित्यनाथ, लोग साधु-संतों को भीख नहीं देते, पीएम...
  • गैजेट-ऑटो अपडेट: पढ़ें आज की टॉप 5 खबरें
  • स्पोर्ट्स अपडेटः ऑस्ट्रेलिया मीडिया ने फिर साधा विराट पर निशाना, कहा...
  • बॉलीवुड मिक्स: कटप्पा ने खुद किया खुलासा, आखिर क्यों बाहुबली को मारा पढ़ें,...
  • आईएसआईएस के दो संदिग्ध कार्यकर्ता दिल्ली अदालत पहुंचे, स्वयं के दोषी होने की दी...
  • जरूर पढ़ें: इस शख्स ने 202 km घूमकर बनाया 'बकरी' का MAP,पढे़ं दिनभर की 10 रोचक खबरें
  • सुप्रीम कोर्ट का आदेश, एक अप्रैल से बीएस-3 मानक को पूरा करने वाले वाहनों की नहीं...
  • टीवी गॉसिप: पढ़ें, इस VIDEO में दिखेगा प्रत्युषा की मौत से पहले का सच!, यहां पढ़ें...
  • स्वाद-खजाना: नवरात्रि व्रत की रेसिपी, जानें कैसे बनाएं स्वादिष्ट पाइनेप्पल...
  • यूपी: सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकारी आवास में किया गृह प्रवेश, लखनऊ के 5 कालिदास...
  • लखनऊः लोहिया इंस्टीट्यूट में पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को देखने पहुंचे...

विकास के लिए स्वतंत्रता आंदोलन जैसे आंदोलन की जरूरत : प्रधानमंत्री

मुंबई, एजेंसी First Published:18-03-2017 10:53:25 PMLast Updated:18-03-2017 10:53:25 PM
विकास के लिए स्वतंत्रता आंदोलन जैसे आंदोलन की जरूरत : प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत के विकास के लिए देश को स्वतंत्रता आंदोलन जैसे आंदोलन की जरूरत है। वीडियो लिंक के जरिए इंडिया टुडे कॉनक्लेव को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन की तरह ही हमें विकास के लिए एक आंदोलन की जरूरत है, जिसमें सामूहिक आकांक्षाएं देश की वृद्धि को प्रेरित करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हम सभी को एक नए भारत के अपने सपने से जुड़ जाना चाहिए, जिसका मंत्र होगा सभी के लिए अवसर और भारत का आत्मसम्मान। मोदी ने कहा कि कई दशकों तक हम गलत नीतियों के साथ गलत दिशा में आगे बढ़े। उस वक्त फैसले चुनाव देख कर लिए जाते थे या अधिकारियों की तय धारणा पर आधारित होते थे, लेकिन अब यह बदल गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार देश के सामने मौजूद मुददों पर संकीर्ण मानसिकता से नहीं बल्कि व्यापक मानसिकता से गौर कर रही है। इंडिया टुडे के प्रधान संपादक अरुण पुरी की ओर से मोदी को डिस्रप्टर-इन-चीफ करार दिए जाने पर प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि कोई डिस्रप्टर-इन-चीफ है तो वह मोदी नहीं बल्कि भारत की जनता है, जो इस नाम की हकदार है।

पाक में दोनों भारतीय उलेमा का पता चला, सोमवार को स्वदेश लौटेंगे

प्रधानमंत्री ने कहा कि नए भारत में उपकार की बातें नहीं होती, अवसर की बातें होती हैं। इसमें सभी के लिए अवसर की बातें होती हैं। उन्होंने कहा कि लोग देश में बुरी चीजों को खत्म करने के लिए एक साथ आ रहे हैं। इससे नए भारत की आधारशिला मजबूत होगी। अपनी सरकार की कुछ नीतियों पर आशंकाएं दूर करने की कोशिश करते हुए मोदी ने कहा कि यह व्यवस्था को बर्बाद करने की विचारधारा नहीं है। यह काया-कल्प करने की विचारधारा है। मोदी ने कहा कि हमने कार्य संस्कृति बदल दी है और अब दक्षता बढ़ाने के लिए प्रक्रियाओं को दुरुस्त करने पर जोर है। उन्होंने कहा कि हमने समयबद्ध क्रियान्वयन और समेकित सोच पर ध्यान दिया है। हमारी प्रक्रियाएं नागरिक हितैषी हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस तरह जीएसटी हासिल किया गया, वह जीएसटी जितना ही अहम है। राज्यों ने इसकी जिम्मेदारी ली है। हम सहकारी संघवाद में विश्वास रखते हैं। जीएसटी की प्रक्रिया ने दिखाया कि विमर्श से चलने वाला लोकतंत्र क्या होता है।

योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम, केशव और दिनेश होंगे डिप्टी

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: for development india needs a movement pm
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड