Image Loading demonetization for wife cremation old man stand in bank cue for 5 hours - LiveHindustan.com
बुधवार, 07 दिसम्बर, 2016 | 14:05 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • संसद न चलने से आडवाणी दुखी, बोले- न सरकार, न विपक्ष चलाना चाहता है सदन (टीवी...
  • अगले तीन दिनों में दिल्ली की हवा होगी और प्रदूषित, हिन्दुस्तान का आज का ई-पेपर...
  • सुप्रीम कोर्ट राकेश अस्थाना की सीबीआई के अंतरिम निदेशक के रूप में नियुक्ति को...
  • नोटबंदी पर संसद में हंगामा, गुलाम नबी आजाद ने पूछा- 84 लोगों की मौत का जिम्मेदार...
  • श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से दूरसंवेदी उपग्रह रिसोर्ससैट-2ए का...
  • 'अम्मा' के निधन पर कमल हासन के विवादित TWEET पर लोगों ने निकाला गुस्सा, बॉलीवुड की टॉप...
  • हिन्दुस्तान टाइम्स के प्रधान संपादक बॉबी घोष का ब्लॉग 'आम लोगों की राय का मिथक'...
  • मौसम अलर्ट: दिल्ली, पटना, लखनऊ में धुंध रहेगी, रांची और देहरादून हल्की धूप निकलने...
  • मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार की तबीयत खराब, मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती
  • हेल्थ टिप्स: रोज दही खाने से पेट रहता सही, बालों और स्किन को भी होते हैं ये फायदे
  • कोहरे की मार: 81 ट्रेनें लेट, 21 ट्रेनों के समय में बदलाव और तीन ट्रेनें रद्द।
  • भविष्यफल: मीन राशिवालों की कुछ पुराने दोस्तों से हो सकती है मुलाकात। अन्य...
  • GOOD MORNING:राजकीय सम्मान के साथ जयललिता के पार्थिव शरीर को दफनाया गया। अन्य बड़ी...

नोटबंदी: पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए 5 घंटे बैंक की लाइन में लगा रहा बुजुर्ग

पानीपत, लाइव हिन्दुस्तान टीम First Published:02-12-2016 11:33:34 AMLast Updated:02-12-2016 11:37:54 AM

पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए 5 घंटे लाइन में खड़ा रहा बुजुर्ग..

नोटबंदी के बाद से ही कैश की किल्लत के चलते कई तरह के मामले देशभर से सामने आ रहे हैं। हरियाणा के पानीपत से भी एक असा मामला सामने आया है जो मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देने वाला है। यहां एक बुजुर्ग की 74 वर्षीय पत्नी की मौत हो गयी लेकिन उसके पास इतना कैश नहीं था कि वो अंतिम संस्कार कर पाता। ये बुजुर्ग 5 घंटे बैंक की लाइन में खड़ा रहा लेकिन जब धैर्य ने साथ छोड़ दिया तो वहीं फूट-फूट कर रोने लगा। 

क्या है मामला
बता दें कि गुरुवार को पानीपत के रहने वाले राजेंद्र पांडेय की पत्नी चंद्रकला की मौत हो गयी। राजेंद्र के आकाउंट में तो पैसे थे लेकिन उसके पास इतना कैश नहीं था कि वो अंतिम संस्कार कर पाता। राजेंद्र सुबह 11 बजे से ही बैंक ऑफ बड़ौदा के बाहर लाइन में लगा था लेकिन 5 घंटे बीट जाने के बावजूद उसे अंदर जाकर पैसे निकालने का मौका ही नहीं मिला। जब इतना वक़्त हो गया तो राजेंद्र का धैर्य जवाब दे गया और वो फूट-फूट कर रोने लगा।

इसके बाद मौके पर मौजूद कुछ मीडियाकर्मियों ने मामले में हस्तक्षेप कर बैंक प्रशासन से बात की जिसके बाद राजेंद्र को पैसे मुहैया कराए गए। राजेंद्र ने बताया कि उसने बैंककर्मियों और बैंक के गेट पर मौजूद पुलिसकर्मियों से भी मदद की गुहार लगाई थी लेकिन किसी ने मदद नहीं की। 

अगली स्लाइड में पढ़ें नवजात की मौत की दोषी निकली पुराना नोट न लेने वाली डॉक्टर... 

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: demonetization for wife cremation old man stand in bank cue for 5 hours
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड