Image Loading china says will countinue silk road projects after unsc endorsement - Hindustan
गुरुवार, 30 मार्च, 2017 | 00:24 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पढ़ें रात 11 बजे की टॉप खबरें, शुभरात्रि
  • आपकी अंकराशि: जानिए कैसा रहेगा आपका कल का दिन
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े अब तक की 10 बड़ी खबरें
  • संशोधनों के साथ सीजीएसटी बिल लोकसभा में पास
  • जीएसटी से संबंधित सभी चार बिल लोकसभा में पास
  • धर्म नक्षत्र: नवरात्रि, ज्योति, फेंगशुई से जुड़ी 10 खबरें
  • बॉलीवुड मसाला: करण जौहर के बच्चों को मिली हॉस्पिटल से छुट्टी, यहां पढ़ें,...
  • हिन्दुस्तान Jobs: असिस्टेंट इंजीनियर के 54 पद रिक्त, बीटेक पास करें आवेदन
  • योगी बोले, लोग संतों को भीख नहीं देते, मोदी ने मुझे यूपी सौंप दिया, पढ़ें राज्यों...
  • टॉप 10 न्यूज़: पढ़े अब तक की देश की बड़ी खबरें
  • योग महोत्सव में बोले सीएम योगी आदित्यनाथ, लोग साधु-संतों को भीख नहीं देते, पीएम...
  • गैजेट-ऑटो अपडेट: पढ़ें आज की टॉप 5 खबरें
  • स्पोर्ट्स अपडेटः ऑस्ट्रेलिया मीडिया ने फिर साधा विराट पर निशाना, कहा...
  • बॉलीवुड मिक्स: कटप्पा ने खुद किया खुलासा, आखिर क्यों बाहुबली को मारा पढ़ें,...
  • आईएसआईएस के दो संदिग्ध कार्यकर्ता दिल्ली अदालत पहुंचे, स्वयं के दोषी होने की दी...
  • जरूर पढ़ें: इस शख्स ने 202 km घूमकर बनाया 'बकरी' का MAP,पढे़ं दिनभर की 10 रोचक खबरें
  • सुप्रीम कोर्ट का आदेश, एक अप्रैल से बीएस-3 मानक को पूरा करने वाले वाहनों की नहीं...
  • टीवी गॉसिप: पढ़ें, इस VIDEO में दिखेगा प्रत्युषा की मौत से पहले का सच!, यहां पढ़ें...
  • स्वाद-खजाना: नवरात्रि व्रत की रेसिपी, जानें कैसे बनाएं स्वादिष्ट पाइनेप्पल...
  • यूपी: सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकारी आवास में किया गृह प्रवेश, लखनऊ के 5 कालिदास...
  • लखनऊः लोहिया इंस्टीट्यूट में पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को देखने पहुंचे...

भारत के विरोध के बावजूद 'सिल्क रोड' बनाने पर अड़ा चीन, दी हिदायत

नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीम First Published:21-03-2017 04:27:31 PMLast Updated:21-03-2017 04:27:31 PM
भारत के विरोध के बावजूद 'सिल्क रोड' बनाने पर अड़ा चीन, दी हिदायत

भारत के विरोध के बावजूद चीन सिल्क रोड बनाने पर अड़ा है। पीओके से होकर पाकिस्तान तक जाने वाले इस प्रोजेक्‍ट पर संयुक्त राष्ट्र की सिक्यूरिटी काउंसिल ने प्रस्ताव रखा कि यह भारत की संप्रभुता के लिए चिंताजनक है। लेकिन चीन अपनी दादागिरी पर झुकने को तैयार नहीं है।

उलट इसके चीन की सरकारी मीडिया ने इस पर अपनी हठ जाहिर करते हुए भारत को ही सकारात्मक सोचने की हिदायत दी है। एचटी की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी मीडिया ने लिखा है कि इस प्रोजेक्ट को लेकर भारत को और व्यहारिक सोच अपनाने की जरूरत है क्योंकि इस प्रोजेक्ट के लिए चीनी राष्ट्रपति को वैश्विक समर्थन हासिल है।

उन्होंने लिखा कि यह प्रोजेक्ट राष्‍ट्रपति जिनपिंग का सबसे पसंदीदा प्रोजेक्ट है जो चीन को यूरोप और एशिया के बड़े भाग को रेल मार्ग, हाईवे और पत्‍तनों को एक साथ जोड़ेगा।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुन्यींग ने पत्रकारों को बताया कि 15 मार्च को यूएन की सिक्यूरिटी काउंसिल में 15 सदस्यों ने उनके प्रस्ताव- 2344 को निर्विरोध रूप से मान्यता दे दी है। चीनी प्रवक्ता ने कहा यह प्रोजेक्ट मानवता का साझा भविष्य वाला पहला दुनिया का पहला प्रोजेक्ट है।

बाबरी कमेटी अड़ी: जिलानी ने कहा, स्वामी से नहीं होगी कोई बात

चीन संयुक्त राष्ट्र सदस्यों के साथ सक्रियता से काम करना चाहेगा। उन्होंने कहा इससे मानवमात्र को सुख सुविधा, सार्वभौमिक सुरक्षा, सबकी संपन्नता, स्वच्छता, सुंदरता और सबको को शामिल स्वतंत्रा देने वाला होगा।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: china says will countinue silk road projects after unsc endorsement
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड