Image Loading bsf jawans in row over death of 3 tribals in tripura - Hindustan
रविवार, 23 अप्रैल, 2017 | 15:32 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • बॉलीवुड मिक्स: तो क्या सच में यूलिया की वजह से सलमान से दूरी बना रही हैं कैटरीना!...
  • टीवी गॉसिप: क्रिकेट छोड़ भज्जी ने किया पोल डांस। कपिल ने सुनील को कहा थैंक्स।...
  • नवी मुंबई: कार शोरूम में आग लगाने से दो लोगों की मौत
  • टॉप 10 न्यूज़: विडियो में देखें देश और दुनिया की अभी तक की बड़ी खबरें
  • स्पोर्ट्स स्टार: विराट की टीम को मजबूती, इस स्टार बल्लेबाज की हुई वापसी। पढ़ें...
  • बॉलीवुड मसाला: जिन्होंने शो छोड़ा कपिल ने उन्हें कहा शुक्रिया, देखें EMOTIONAL VIDEO।...
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर में आज रहेगी गर्मी। लखनऊ में छाए रहेंगे बादल। पटना,...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः कन्या राशि वालों को परिवार का सहयोग मिलेगा, नौकरी में तरक्की के बन...
  • सक्सेस मंत्र: काम को बोझ समझकर नहीं बल्कि पूरे मन और आनंद से करें
  • MCD चुनाव 2017: थोड़ी देर में शुरू होगा मतदान, 56 हजार सुरक्षाकर्मी करेंगे निगरानी
  • MIvDD : मुंबई ने दिल्ली को 14 रन से हराया

बीएसएफ जवानों की फायरिंग पर राजनाथ ने रिपोर्ट मांगी

अगरतला, एजेंसी First Published:18-03-2017 09:27:18 PMLast Updated:18-03-2017 09:27:18 PM
बीएसएफ जवानों की फायरिंग पर राजनाथ ने रिपोर्ट मांगी

बीएसएफ जवानों की फायरिंग में शुक्रवार को तीन आदिवासियों की मौत के मामले में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रिपोर्ट मांगी है। इस दौरान सीमा सुरक्षा बल ने मामले की जांच के भी आदेश दे दिए हैं।

त्रिपुरा-बांग्लादेश सीमा के नजदीक हुई इस घटना को लेकर बीएसएफ और स्थानीय पुलिस की ओर से अलग-अलग बयान दिए जा रहे हैं। इस बीच गृह मंत्री ने घटना पर दुख जताते हुए बीएसएफ प्रमुख केके शर्मा से मामले की विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक केवी श्रीजेश और पुलिस अधीक्षक तपन कुमार देवबर्मा भारी पुलिस बल के साथ इलाके में डेरा डाले हुए हैं। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने घटना को लेकर पुलिस महानिदेशक के. नागराज और मुख्य सचिव संजीब रंजन के साथ चर्चा की और उन्हें मामले से जुड़ी सभी जानकारी जुटाने को कहा है।

बीएसएफ ने बताया तस्कर
बीएसएफ ने शुक्रवार को घटना के बाद बयान जारी कर दावा किया था कि त्रिपुरा फ्रंटियर में भारत-बांग्लादेश सीमा के पास तैनात जवानों ने बीओपी भंगपुरा में करीब 40 लोगों को मवेशियों की तस्करी करते देखा। इसमें महिलाएं भी शामिल थीं। जवानों ने उन्हें रुकने के लिए कहा और हवाई फायरिंग की। तस्करों ने पलटकर जवानों पर लाठी और अन्य चीजों से हमला कर दिया। इसके बाद जवानों ने आत्मरक्षा में गोलियां चलाई, जिसमें तीन तस्करों की मौत हो गई।

पुलिस का दावा अलग
पुलिस अधीक्षक (नियंत्रण) भानुपद चक्रवर्ती ने ग्रामीणों द्वारा दर्ज कराई प्राथमिकी के हवाले से बताया कि तीन बीएसएफ जवानों ने भंगपुरा में एक जनजातीय महिला से छेड़खानी का प्रयास किया था। लड़की की चीख सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो संघर्ष शुरू हो गया। इसी दौरान बीएसएफ जवानों ने फायरिंग की, जिसमें एक महिला और दो ग्रामीणों की मौत हो गई।

विरोध में माकपा का बंद
बीएसएफ जवानों की फायरिंग से तीन आदिवासियों की मौत के विरोध में सत्तारूढ़ माकपा ने शनिवार को बंद का आह्वान किया। इसका सबसे ज्यादा असर दक्षिण त्रिपुरा जिले के सबरूम उपमंडल में दिखा, जहां बंद से जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दुकानें और बाजार बंद रहे, सड़कों पर गाड़ियां भी नहीं दिखीं। स्कूल, कॉलेज, सरकारी दफ्तर, बैंक और वित्तीय संस्थान भी सूने रहे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: bsf jawans in row over death of 3 tribals in tripura
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड