class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल के मरीजों के लिए रामबाण है पीपल का पत्ता 

दिल के मरीजों के लिए रामबाण है पीपल का पत्ता 

संसार में पीपल के बारे में लगभग सभी लोग जानते हैं। पीपल को आयुर्वेद में कई घातक बिमारियों के लिए रामबाण माना जाता है। पीपल से कई  गंभीर बीमारियों के लिए दवा बनती है जिसमे से एक सबसे घातक बिमारी है दिल हार्ट अटैक, जिससे आज देश और दुनिया की एक बड़ी जनसँख्या पीड़ित है। 

दवा तैयार करने की विधि 
पीपल के 15 पत्ते लें जो कोमल गुलाबी कोंपलें न हों, बल्कि पत्ते हरे, कोमल व भली प्रकार विकसित हों। प्रत्येक का ऊपर व नीचे का कुछ भाग कैंची से काटकर अलग कर दें। पत्ते का बीच का भाग पानी से साफ कर लें। इन्हें एक गिलास पानी में धीमी आँच पर पकने दें। जब पानी उबलकर एक तिहाई रह जाए तब ठंडा होने पर साफ कपड़े से छान लें और उसे ठंडे स्थान पर रख दें, आपका दवा तैयार।

कैसे करें उपयोग   
पीपल के पत्ते में दिल को बल और शांति देने की अद्भुत क्षमता है। इस पीपल के काढ़े की तीन खुराकें सवेरे 8 बजे, 11 बजे व 2 बजे ली जा सकती हैं। खुराक लेने से पहले पेट एक दम खाली नहीं होना चाहिए, बल्कि सुपाच्य व हल्का नाश्ता करने के बाद ही लें। प्रयोगकाल में तली चीजें, चावल आदि न लें। मांस, मछली, अंडे, शराब, धूम्रपान का प्रयोग बंद कर दें। नमक, चिकनाई का प्रयोग बंद कर दें। यदि आप इस दवा का सेवन नियमित रूप से करेंगे तो हार्ट अटैक की संभावना काफी हद तक कम हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:benefits of peepal leaf