Image Loading assam majuli a person carries his brother deadbody on cycle - Hindustan
सोमवार, 24 अप्रैल, 2017 | 10:56 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • बॉलीवुड मसालाः बाहुबली-2 का पहला गाना आया और इंटरनेट पर मच गया धमाल, इसके अलावा...
  • टॉप 10 न्यूज: सुबह 9 बजे तक देश-दुनिया की खबरें एक नजर में
  • हेल्थ टिप्स: गर्मियों में रोजाना पीयें मट्ठा, कैलोरी व फैट रखेगा नियंत्रित
  • ओपिनियनः पढ़ें मिंट के संपादक आर सुकुमार का लेख- स्टार्ट-अप में उतार-चढ़ाव का दौर
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना और रांची में आज रहेगी गर्मी। देहरादून में...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः वृष राशि वालों को माता-पिता का सानिध्य एवं सहयोग मिलेगा। नौकरी में...
  • सक्सेस मंत्र: खुद पर विश्वास रखेंगे तो जरूर आगे बढ़ेंगे
  • टॉप 10 न्यूज: देश-दुनिया की खबरें पढ़ें एक नजर में
  • KKRvRCB: कोलकाता ने बैंगलोर को 82 रन से हराया

मानवता शर्मसार: भाई के शव को साइकिल पर लेकर निकला युवक

नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीम First Published:19-04-2017 05:00:39 PMLast Updated:19-04-2017 05:15:08 PM
मानवता शर्मसार: भाई के शव को साइकिल पर लेकर निकला युवक

ओडिशा में दाना मांझी अपनी पत्नी का शव कंधे पर ले जाने की घटना को अभी आठ महीने ही बीते थे कि असम में भी ऐसी ही एक घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि ताजा मामला असम के माजुली चुनाव क्षेत्र से हैं। माजुली असम के मुख्यमंत्री सीएम सर्वानंद सोनोवाल का चुनाव क्षेत्र है। यहां पर एक शख्स अपने 18 साल के भाई का शव साइकिल पर बांधकर घर लाया। जैसे इस घटना को स्थानीय टीवी चैनलों ने दिखाया तो फुटेज देखकर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने मामले की जांच के आदेश दे डाले।


कार्रवाई: सोशल मीडिया पर खाने की शिकायत करने वाला BSF जवान बर्खास्त

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक युवक लखीमपुर जिले के बालिजान गांव का रहने वाला है। उसके भाई को सांस लेने में तकलीफ थी इसलिए उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल जिले से आठ किलोमीटर की दूरी पर है। अस्पताल के अधिकारियों की मानें तो सोमवार को सुबह 3.30 बजे उसे अस्पताल में लाया गया। लेकिन इससे पहले कि डॉक्टर केस को डायग्नोस कर पाते उसकी मौत हो गई। युवक सांस की बीमारी से पीड़ित था। बताया जा रहा है कि गांव जाने का रास्ता खराब होने के कारण अस्पताल का कोई भी गाड़ी वाला उसे ले जाने के लिए तैयार नहीं हुआ। अधिकारियों के अनुसार मौत के बाद डॉक्टरों ने उसे गाड़ी देने का आदेश दिया था लेकिन परिवार ने उसके शव को साइकिल पर ले जाने का फैसला किया। हालांकि अभी परिवार से बात नहीं हो पाई है।

इस मामले में माजुली के डिप्टी कमिश्नर पीजी झा ने बताया कि युवक की मौत गारामुर सिविल अस्पताल में हुई है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि मृतक के गांव बालीजान में जाने के लिए ऐसी सड़क नहीं है जहां गाड़ी जा सके, यही नहीं इस गांव में जाने के लिए बांस के अस्थायी पुल से भी गुजरना होता है।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: assam majuli a person carries his brother deadbody on cycle
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें