class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानव ढाल घटना मामले में सेना का कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश 

मानव ढाल घटना मामले में सेना का कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश 

सेना ने कश्मीर में उस विवादास्पद मानव ढाल घटना मामले में कोर्ट आफ इन्क्वायरी का आदेश दे दिया है जिसमें एक व्यक्ति को कथित रूप से पथराव करने वालों के खिलाफ एक ढाल के तौर पर सेना के एक वाहन पर बांध दिया गया था। 

सेना के सूत्रों ने कहा कि कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी को जांच पूरा करने के लिए एक महीने का समय दिया गया है। नौ अप्रैल को श्रीनगर लोकसभा उपचुनाव के दौरान पथराव करने वालों के खिलाफ एक ढाल के रूप में एक व्यक्ति को सेना के वाहन पर बांधे दिखाने वाले वीडियो को लेकर काफी आक्रोश उत्पन्न हुआ था।  

कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी उन परिस्थितियों की जांच करेगा जिसके कारण सेना के मेजर को कश्मीरी युवक को जीप की बोनट पर मानव ढाल के तौर पर बांधना पड़ा। सूत्रों ने कहा कि कोर्ट आफ इन्क्वायरी को घटना की जांच के लिए 15 मई तक का समय दिया गया है। 

सबसे तेजः 4जी डाउनलोड स्पीड में रिलायंस जियो शीर्ष पर- ट्राई रपट

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने घटना के बाद जम्मू कश्मीर का दौरा किया था और उसके बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को कश्मीर घाटी की सुरक्षा स्थिति से अवगत कराया था। जनरल रावत ने राज्य के अपने दौरे के दौरान कश्मीर में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति को लेकर जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और राज्यपाल एन एन वोहरा से अलग अलग चर्चा की थी।

यूपीः बुन्देलखण्ड-दिल्ली के बीच सिक्स लेन: योगी आदित्यनाथ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:army kashmir human shield incident court of inquiry