Image Loading pranab mukherjee praises narendra modi - Hindustan
सोमवार, 24 अप्रैल, 2017 | 14:54 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • टीवी गॉसिप: 'अकबर' का गुस्सा, एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर पर बोले, केस कर दूं, मगर...यहां...
  • टॉप 10 न्यूज़: विडियो में देखें देश और दुनिया की अभी तक की बड़ी खबरें
  • बाल-बाल बचे दिल्ली-कोलकाता एयर इंडिया विमान के यात्री, कोलकाता एयरपोर्ट पर...
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलीं जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती,...
  • स्पोर्ट्स स्टार: RCB कप्तान विराट ने मैच के बाद कहा, 'ये इतना बुरा था कि अभी..' यहां...
  • बॉलीवुड मसालाः बाहुबली-2 का पहला गाना आया और इंटरनेट पर मच गया धमाल, इसके अलावा...
  • टॉप 10 न्यूज: सुबह 9 बजे तक देश-दुनिया की खबरें एक नजर में
  • हेल्थ टिप्स: गर्मियों में रोजाना पीयें मट्ठा, कैलोरी व फैट रखेगा नियंत्रित
  • ओपिनियनः पढ़ें मिंट के संपादक आर सुकुमार का लेख- स्टार्ट-अप में उतार-चढ़ाव का दौर
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना और रांची में आज रहेगी गर्मी। देहरादून में...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः वृष राशि वालों को माता-पिता का सानिध्य एवं सहयोग मिलेगा। नौकरी में...
  • सक्सेस मंत्र: खुद पर विश्वास रखेंगे तो जरूर आगे बढ़ेंगे
  • टॉप 10 न्यूज: देश-दुनिया की खबरें पढ़ें एक नजर में
  • KKRvRCB: कोलकाता ने बैंगलोर को 82 रन से हराया

शिक्षा संस्थानों में नफरत के लिए जगह नहीं: प्रणब मुखर्जी

मुंबईे, एजेंसी First Published:18-03-2017 11:23:22 AMLast Updated:18-03-2017 11:23:22 AM
शिक्षा संस्थानों में नफरत के लिए जगह नहीं: प्रणब मुखर्जी

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार को कहा है कि शिक्षा संस्थानों में असहिष्णुता, पक्षपात और नफरत के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए। दिल्ली में पिछले दिनों छात्र संगठनों के बीच हुए टकराव के चलते उनका यह बयान अहम माना जा रहा है।

मुंबई विश्वविद्यालय के विशेष दीक्षांत समारोह में पहुंचे मुखर्जी ने कहा कि उच्च शिक्षा क्षेत्र की देश के राष्ट्रीय विकास के प्रयासों में महत्वपूर्ण भूमिका है। लिहाजा शिक्षण संस्थानों को बहुविचारों के सहअस्तित्व के अगुवा के रूप में काम करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हमें संकीर्ण मानसिकता और विचारों को पीछे छोड़ते हुए खुलकर बातचीत और बहस को अपनाना चाहिए। मुखर्जी ने कहा कि विश्वविद्यालय और उच्च शिक्षा संस्थान विचारों के मुक्त आदान-प्रदान का सर्वश्रेष्ठ मंच हैं। राष्ट्रपति ने संसद में अकसर होने वाले व्यवधान पर भी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि उनके लिए लोकतंत्र के मूलभूत स्तंभ को निष्प्रभावी होते देखना मुश्किल है।

पीएम मोदी की प्रशंसा

राष्ट्रपति ने यूपी-उत्तराखंड में जीत के बाद पीएम मोदी के भाषण की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, संसदीय लोकतंत्र में सभी को साथ लेकर चलने की जरूरत है। पीएम ने भाषण में कहा था कि जिन्होंने वोट दिया या नहीं दिया, सरकार सभी की होगी और सभी का ख्याल रखेगी।

प्रभावित हूं: प्रणब ने कहा कि मैं पीएम मोदी के स्पष्ट रुख, ऊर्जा और कड़ी मेहनत करने की क्षमता से भी बहुत प्रभावित हुआ हूं।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: pranab mukherjee praises narendra modi
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड