class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाटों का ऐलान: आज नहीं करेंगे दिल्ली कूच, इन मांगों पर ही बनी सहमति

जाटों का ऐलान: आज नहीं करेंगे दिल्ली कूच, इन मांगों पर ही बनी सहमति

1/3जाटों का ऐलान: आज नहीं करेंगे दिल्ली कूच, इन मांगों पर ही बनी सहमति

 

आरक्षण की मांग को लेकर हरियाणा में पिछले 50 दिनों से चल रहे आंदोलन का आज पटाक्षेप हो गया। दो केंद्रीय मंत्रियों की मध्यस्थता के साथ हरियाणा के मुख्यमंत्री तथा जाट नेताओं के बीच कई घंटे चली बैठक के बाद जाटों ने सोमवार को होने वाले दिल्ली कूच को रद्द करने का ऐलान कर दिया। वर्तमान हालातों में जाट व सरकार दोनों एक-दूसरे के प्रति नरम हैं। सरकार ने जहां सभी मांगे पूरी करने का भरोसा दिया है वहीं जाटों ने भी यह मान लिया है कि कानूनी प्रक्रिया में लगने वाले समय के दौरान वह शांत रहेंगे।

सरकार नियम व कानून के दायरे में रहकर उनकी मांगे पूरी करेगी। रविवार को जाट समुदाय तथा हरियाणा सरकार के बीच यह पांचवीं बैठक थी जबकि एक संयुक्त बैठक गफलत के चलते रद्द हो गई थी। रविवार को अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समीति के अध्यक्ष यशपाल मलिक, अशोक बल्हारा तथा अन्य जाट नेताओं ने केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह, कानून राज्य मंत्री पी.पी.चौधरी तथा मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के बीच दोपहर एक बजे से शाम करीब छह बजे तक दो चरणों में मैराथन बैठकें चलती रही। बैठक के दौरान केंद्रीय मंत्री पी.पी. चौधरी ने आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार जाटों की मांगों को लेकर पूरी तरह से गंभीर है और बहुत जल्द राष्ट्रीय ओबीसी आयोग में नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। जिसके तुरंत बाद केंद्र में भी आरक्षण दिया जाएगा।

अगली स्लाइड में पढ़ें मनोहर लाल खट्टर ने अपने बयान में क्या कहा

जाट आरक्षण: कल खुला रहेगा हरियाणा रोडवेज, मेट्रो होगी प्रभावित

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: jat stir manohar lal khattar invites jat leaders for talks in delhi