class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय मौलवी को पाकिस्तानी अखबार ने रॉ एजेंट बता कराया था गिरफ्तार

भारतीय मौलवी को पाकिस्तानी अखबार ने रॉ एजेंट बता कराया था गिरफ्तार

पिछले दिनों पाकिस्तान में लापता हुए दिल्ली की जानी-मानी हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो मौलवी आज भारत पहुंच गए हैं। दिल्ली के निजामुद्दीन दरगाह के प्रमुख मौलाना आसिफ निजामी और नजीम निजामी पाकिस्तान के लाहौर में दाता दरबार दरगाह पर गए थे। इस बीच उनके लापता होने की खबर आई। दोनों मौलवी आज दोपहर दो बजे विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात करेंगे।

इन दोनों को पाकिस्तान के एक अखबार की गलत खबर के चलते रॉ का जासूस समझ लिया गया था। आज दिल्ली पहुंचने के दोनों मौलवी एयरपोर्ट से हजरत निजामुद्दीन की दरगाह पहुंचे। मीडिया से बात करते हुए आसिफ अली निजामी ने बताया कि पाकिस्तान के एक अखबार उम्मत ने तस्वीरों के साथ खबर छापी थी कि वहां दो रॉ के जासूस पहुंचे हैं। 

 

इससे पहले बुधवार से लापता दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन औलिया दरगाह के दो भारतीय सूफी मौलानाओं का पता चला रविवार को चला। दोनों कराची में पाए गए। दोनों मौलानाओं का पता विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के हस्तक्षेप के बाद ही संभव हो पाया है। विदेश मंत्री स्वराज ने पाकिस्तानी अधिकारियों से दोनों भारतीय मौलानाओं का पता लगाने को कहा था। लगातार भारतीय दबाव के कारण उनकी वापसी हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: both ulema of hazrat nizamuddin ali dargah will reach delhi today