class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन दिनों से स्कूल में है तालाबंदी, सहमति बनी

फोटो सतीशमुजफ्फरपुर। पिछले दो दिनों से पोस्ट ऑफिस से निराश होकर लौट रहे लोग गुरुवार को रुपये साथ घर गए। कतार में खड़े लोगों ने बताया कि आज सुबह से कैश मिलने से राहत हुई है। कतार में खड़े सीनियर सिटिजन एके वर्मा ने कहा कि बुजुर्गों के लिए पोस्ट ऑफिस में कोई व्यवस्था नहीं है। शुरू में एक अलग काउंटर था। लेकिन इसे बंद कर दिया गया। (हि.प्र.)

17 हजार का चेक लेकर भटकते रहे रिटायर्ड फौजीफोटोमुजफ्फरपुर। हिन्दुस्तान प्रतिनिधिहाथ में एसबीआई का 17 हजार का सीबीएस चेक था। लेकिन सीतामढ़ी के बेलसंड निवासी रिटायर्ड फौजी बीएन सिंह व उनकी पत्नी मीना सिंह अपना इलाज नहीं करा सके। बीएन सिंह ने कहा कि समस्तीपुर में रिश्तेदार के घर गया था। वहां एसबीआई की शाखा में करीब दो घंटे तक लाइन में खड़ा रहा। काउंटर पर पहुंचने पर बताया कि सिर्फ 10 हजार रुपये ही मिलेंगे। उनसे कहा कि इलाज कराना है, लेकिन तब भी रुपये नहीं दिया। जूरन छपरा में एक डॉक्टर से दिखाना था। वहां से वे मुजफ्फरपुर आकर रेडक्रॉस शाखा में कतार में लगे। लेकिन यहां भी कतार लंबी थी। शाम के चार बजे के बाद बुजुर्ग दंपति थककर वापस सीतामढ़ी के लिए लौट गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two days later, in the post office evacuation
From around the web