class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुरादनगर से सरधना तक कांवड़ मार्ग के काम ने पकड़ी रफ्तार

गंगनहर कावंड़ मार्ग के चौड़ीकरण का काम तेज रफ्तार पकड़ गया है। मुरादनगर से पुरकाजी तक 108 किलोमीटर लंबा यह रूट यूपी में पड़ता है। इस हिस्से पर काम शुरू हो गया है। मुरादनगर से सरधना तक काम तेज रफ्तार से चल रहा है। कांवड़ यात्रा के दौरान सबसे अधिक परेशानी एनएच 58 पर सफर करने वाले लोगों को होती है। कांवड़ियों के भारी सैलाब के चलते इस मार्ग को बंद भी करना पड़ता है। कई जगह रूट डायवर्जन करना पड़ता है।

कावंड़ मार्ग की चौड़ाई 3.7 मीटर है। 2012 में कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव ने कांवड़ मार्ग के चौड़ीकरण की घोषणा की थी पर इस पर काम शुरू नहीं हो पाया था। अब इस प्रोजेक्ट के लिए 165 करोड़ रुपये मंजूर हो गए हैं और इसे सात मीटर चौड़ा किया जा र हा है। सड़क चौड़ी होने के बाद डाक कांवड़ (वाहन वाली) आदि सभी आसानी से निकल सकेंगी। मुरादनगर से पुरकाजी तक रोड चौड़ी होनी है। इसका काम गाजियाबाद की ओर से शुरू हो चुका है। मुरादनगर के पास चौड़ी करने का काम शुभारंभ हो चुका है। नवंबर 2018 तक पूरा करने की समय सीमा तय की गई है। मेरठ जिले की सीमा में सरधना से आगे तक काम चल रहा है। 108 किलोमीटर में से 13 किलोमीटर की रोड गाजियाबाद में है। मुरादनगर, मेरठ और मुजफ्फरनगर आदि इलाकों से होकर यह सड़क पुरकाजी के आगे उत्तरखंड को लिंक करती है। इस पूरे मार्ग के चौड़ीकरण में 165 करोड़ रुपए खर्च होंगे। शासन द्वारा स्वीकृति मिलने के बाद पीडब्ल्यूडी को धनराशि दे दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुरादनगर से सरधना तक कांवड़ मार्ग के काम ने पकड़ी रफ्तार