Image Loading yogi becomes a cm happiness in the saints of ayodhya - Hindustan
सोमवार, 27 मार्च, 2017 | 10:11 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • बॉलीवुड मसाला: दूसरे दिन 'फिल्लौरी' ने पकड़ी रफ्तार, कमाए इतने करोड़, यहां पढ़ें,...
  • भारतीय नागरिकता मिलने के दो दिन बाद ही शॉन टैट ने क्रिकेट के हर फॉरमैट से...
  • #INDvsAUS: तीसरे दिन का खेल शुरू, टीम इंडिया का स्कोर 248/6, रिद्धमान साहा (10) और रविंद्र...
  • टॉप 10 न्यूज: यूपी में आज भी हड़ताल पर होंगे मीट और मछली व्यापारी, सुबह 9 बजे तक की...
  • हिन्दुस्तान ओपिनियन: बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी का विशेष लेख- पिछड़ता...
  • पंजाब: गुरदासपुर में BSF जवानों ने पहाड़ीपुर पोस्ट के पास एक पाकिस्तानी...
  • हेल्थ टिप्स: सीढ़ी चढ़ने से कम होता है हार्ट अटैक का खतरा, क्लिक कर पढ़ें
  • मौसम दिनभर: दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, रांची और लखनऊ में होगी तेज धूप।
  • ईपेपर हिन्दुस्तान: आज का समाचार पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।
  • आपका राशिफल: मिथुन राशि वालों के आय में वृद्धि होगी, अन्य राशियों का हाल जानने के...
  • सक्सेस मंत्र: अवसर जरूर द्वार खटखटाते हैं, बस पहचानना आना चाहिए, क्लिक कर पढ़ें
  • टॉप 10 न्यूज: कश्मीर में आतंक-PDP मंत्री के घर पर हमला, दो पुलिसकर्मी हुए घायल, अन्य...

योगी के सीएम बनने से अयोध्या के संतों में खुशी

अयोध्या। हिन्दुस्तान संवाद First Published:18-03-2017 10:21:10 PMLast Updated:19-03-2017 12:06:49 AM

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के लिए गोरक्ष पीठाधीश्वर व गोरखपुर के भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ के नाम पर मुहर लगने के साथ ही अयोध्या में हर्ष की लहर दौड़ गई है। हिन्दुत्व की अगुवाई करने वाले भाजपा के फायर ब्रांड नेता सांसद योगी की ताजपोशी को हरीझंडी मिलने पर अयोध्या का संत समाज भी गदगद ही नहीं है बल्कि हर्षातिरेक से विह्वल है।

इसी के साथ राम मंदिर निर्माण की उम्मीदों को भी पंख लग गए हैं, क्योंकि जहां एक तरफ योगी का रामनगरी से पहले से ही गहरा लगाव रहा है, वहीं यहां के संतो के साथ बहुत ही मधुर रिश्ते हैं। इसी के कारण योगी विभिन्न मंदिरों के उत्सवों में भी हिस्सा लेने सामान्य तौर पर आते रहे हैं।खास बात यह भी है कि राम मंदिर को लेकर शुरू हुए आन्दोलन के पहले श्रीरामजन्मभूमि मुक्ति आन्दोलन समिति नामक जिस संस्था का गठन किया था, उसके अगुवाकार ही नहीं पहले अध्यक्ष भी सांसद योगी आदित्यनाथ के गुरु व पूर्व गोरक्ष पीठाधीश्वर महंत अवैद्यनाथ ही थे।

उन्हीं के नेतृत्व में वर्ष 1983 में सीतामढ़ी बिहार से दिल्ली तक की रथयात्रा निकाली गई थी जिसे 31 अक्तूबर 1984 को उत्तर प्रदेश की सीमा में इसलिए स्थगित कर दिया गया था चूंकि तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी।श्रीरामजन्मभूमि न्यास के तत्कालीन कार्यकारी अध्यक्ष एवं दिगम्बर अखाड़ा के पूर्व महंत रामचन्द्र दास परमहंस के साथ महंत अवैद्यनाथ के बीच अत्यन्त आत्मीय रिश्ते थे। उन्हीं रिश्तों को सांसद योगी आदित्यनाथ आज भी निभा रहे हैं और स्वर्गीय परमहंस की लगभग हर पुण्यतिथि पर अयोध्या आकर एक तरफ जहां उन्हें श्रद्धांजलि देते रहे। वहीं दूसरी ओर राम मंदिर निर्माण का संकल्प भी दोहराते रहे। मुख्यमंत्री पद पर उनके नाम पर अंतिम मुहर लगने परबधाईयों का तांता लग गया। दिगम्बर अखाड़ा के महंत सुरेश दास ने भाजपा शीर्ष नेतृत्व को हृदय से बधाई दी।

वहीं रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष व मणिराम छावनी के महंत नृत्यगोपाल दास ने भी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे स्पष्ट है कि राम मंदिर निर्माण के रास्ते के रोड़े हटते जा रहे हैं और अब मंदिर निर्माण कार्य भी जल्द शुरू हो जाएगा। वहीं अयोध्या नरेश विमलेन्द्र मोहन प्रताप मिश्र ने भी योगी के मुख्यमंत्री बनने पर बधाई देने के साथ विश्वास जताया कि उत्तर प्रदेश के साथ अयोध्या का भी विकास निश्चित तौर पर होगा। श्रीमिश्र ने कहा कि सांसद योगी आदित्यनाथ बहुत सुलझे व जनप्रिय नेता है और ईमानदार प्रशासन देने में भी सक्षम होंगे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: yogi becomes a cm happiness in the saints of ayodhya
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड