class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नशेड़ी ठप कर रहे पुराने लखनऊ की बिजली, बेपरवाह लेसा

- हरदोई रोड ट्रांसमिशन से बालाघाट उपकेंद्र को जाने वाली केबल में कूड़े का ढेर

- कभी केबल में आग लग जाती है, तो कभी नशेड़ी केबल को काट देते हैं

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

लेसा की लापरवाही से पुराने लखनऊ की बिजली सप्लाई चौपट हो गई है। कभी नशेड़ियों द्वारा केबल काटने के दौरान धमाका हो जाता है। तो कभी ट्रंच में कूड़े के ढेर में आग लग जाती है।

220 केवी हरदोई रोड ट्रांसमिशन से जॉगर्स पार्क और सीतापुर बाईपास से दुबग्गा चौराहे तक जाने वाली केबल में आये दिन धमाका होता है। इससे पुराने लखनऊ की लगभग एक लाख आबादी को घंटों बिजली संकट झेलना पड़ता है। शनिवार को दुबग्गा ट्रांसमिशन उपकेंद्र के पास 33 केवी केबल में आग लग गई। इससे बालाघाट उपकेंद्र की बिजली सप्लाई ठप हो गई। इससे पहले रहीमाबाद उपकेंद्र की केबल को नशेड़ियों ने क्षतिग्रस्त कर दिया था।

गौरतलब है कि हरदोई रोड ट्रांसमिशन सबस्टेशन से अलग-अलग उपकेंद्रों की कई केबल को नशेड़ियों ने पूरी तरह से नष्ट कर दिया है। चंद रुपये के खातिर उन्होंने पीवीसी का खोल, उसके भीतर लगा आर्मड उपकरण और अंदर से कॉपर अर्थिंग स्ट्रीप तक निकाल लिया है। अब अगर लाइन छेड़ी जाती है तो आपूर्ति ठप होना तय है। साथ ही लाइन छेड़ने वाले की जान भी जा सकती है। लेसा अभियंताओं की लापरवाही के कारण यह केबल भूमिगत न करते हुये ट्रंच में डाली गई। और उसके ऊपर सीमंट के पत्थर रखे है। नशेड़ी इन्हें हटाकर ट्रंच के अंदर बैठ जाते हैं और फिर 33 केवी लाइन में लगे लाखों रुपये के पुर्जे निकालकर चंद रुपये में बेच देते हैं। इसके अलावा केबल पर बालू भी नहीं डाली गई है। ठाकुरगंज विद्युत खंड के अधिशासी अभियंता राम अवतार ने बताया कि आजाद नगर और बालाघाट उपकेंद्र के लिये अंडरग्राउंड केबल डाला जायेगा।

एक की हुई थी मौत

वर्ष 2013 में एक नशेड़ी की जलकर मौत हो चुकी है। नशेड़ी द्वारा चालू 33 केवी लाइन छेड़ने का प्रयास किया गया था। उस दौरान वह करंट की चपेट में आ गया था और चंद मिनट में जलकर मौत हो गई।

वर्ष 2008 में डाली गई थी लाइन

वर्ष 2008 में लेसा ने हरदोई रोड स्थित उपकेंद्र में जॉगर्स पार्क के बीच छह सौ मीटर और सीतापुर बाईपास से दुबग्गा चौराहे तक 11 सौ मीटर केबल डाली थी।

ये इलाके होंगे प्रभावित

सरफराजगंज, अलमासबाग, आजाद नगर, एकता नगर, करीम नगर, कैम्पवेल रोड, अंबरगंज, बालागंज, रामनगर, रस्तोगी नगर, गढ़ी पीर खां, बरौरा हुसैनबाड़ी सहित कई मुहल्ले है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:purane lucknow ki bijli supply thap ho rahi