class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंत्री प्रकाश जावेड़कर व राम विलास पासवान ने दिया छात्रों के साथ न्याय का भरोसा

बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर केन्द्रीय विश्वविद्यालय में निष्कासित छात्रों के मामले को लेकर आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के प्रदेश संयोजक अवधेश वर्मा के नेतृत्व में सात सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने एमएचआरडी मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात की। इसमें पीड़ित छात्र श्रेयात बौद्ध भी शामिल थे। प्रतिनिधि मंडल ने उनसे कहा कि कुलपति प्रो. सोबती की हठधर्मिता के चलते कभी भी रोहित वेमुला जैसी घटना घटित हो सकती है। विश्वविद्यालय में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हो रहा है, ध्यान भटकाने के लिए दलित छात्रों को निशाना बनाया गया। पूरे मामले की सीबीआई जांच करा ली जाए तो स्वतः सच्चाई का खुलासा हो जाएगा। अवधेश वर्मा और श्रेयात बौद्ध ने बताया कि मंत्री जावेड़कर ने माना कि यह गम्भीर मामला है, तत्काल इसके जांच के निर्देश दिए जा रहे हैं। किसी भी दोषी को बक्शा नहीं जाएगा और निष्कासित 8 दलित छात्रों को शीघ्र ही न्याय मिलेगा। इसके बाद केन्द्रीय खाद्य मंत्री श्री राम विलास पासवान ने प्रकरण की जानकारी होने पर कुलपति से वार्ता की। उन्होंने भी भरोसा दिया कि अगर दो दिन में छात्रों का निष्कासन वापस नहीं होता है तो वह यह मामला कैबिनेट बैठक मे पीएम मोदी के समक्ष उठाएंगे।

दूसरी ओर प्रदेश संयोजक अवधेश वर्मा ने बताया कि पदोन्नति में आरक्षण बिल पास कराने को लेकर भी केन्द्रीय खाद्य मंत्री श्री राम विलास पासवान चर्चा हुई। उन्होंने आश्वासन दिया है कि आगामी शीतकाली आगामी सत्र में पदोन्नति बिल पास कराने के लिए प्रधानमंत्री बात करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:prakash Javedkr and Ram Vilas Paswan, Minister of Justice, with the students' confidence