class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सभी धर्म व जातियों को मिले उचित सम्मान :यादवेन्द्र सिंह

लखनऊ। निज संवाददाता

अवध क्वीयर कमेटी की ओर से शनिवार को इंटरनेशनल डे अगेन्स्ट होमोफोबिया एंड ट्रांसफोबिया विषय पर रिवरफ्रंट गोमती नगर में फ्लैश मॉब आयोजित किया गया। कार्यक्रम के संयोजक यादवेन्द्र सिंह ने कहा कि सेक्स, जेंडर और सेक्शुऐलिटी जैसे असामान्य विषय पर तय और पुरातन मानसिकता को बदलनी चाहिए। सभी धर्म, जाति व लिंग का लोगो को सम्मान करना चाहिए।

फ्लैश मॉब का मुख्य उद्देश्य या है कि इस प्रकार के लोगों को समाज में उचित स्थान दिलाना है। जिससे समाज में इनको भ्रम और हिंसा ना झेलनी पड़े, इसके लिए लोगो को जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि सेक्स, जेंडर और सेक्शुऐलिटी जैसे लोगो को उपेक्षित ना किया जाए, वैकल्पिक जेंडर और सेक्शुऐलिटी के समुदाय की तकलीफ़ों और उनके संघर्षों के बारे में समाज को जागरूक करने के लिए अवध क्वीयर कमेटी ऐसा फ्लैश मॉब करती रहेगी।

यह कार्यक्रम मुंबई के हमसफर ट्रस्ट के साथ इंटरनेशनल डे अगेन्स्ट होमोफोबिया एंड ट्रांसफोबिया को मनाने के लिए साझेदारी में आयोजित किया गया था। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन ने होमोसेक्शुऐलिटी को मानसिक बीमारी न होना घोषित किये जाने के खुशी में होमोफोबिया एंड ट्रांसफोबिया दिवस मनाया जाता है। कार्यक्रम में इंटरनेशनल डे अगेन्स्ट होट्रांमोफोबिया एंड ट्रांसफोबिया के प्रति लोगों को जागरूक करना अवध क्वीयर कमेटी का मुख्य लक्ष्य है। फ्लैश मॉब में अबीर, दक्ष, तनजिल, मेघा, एलिक्स, लव व स्मृति समेंत तमाम लोग मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:flase mab