Image Loading bijli lokpal - Hindustan
शनिवार, 21 जनवरी, 2017 | 22:59 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • कमांडर्स कांफ्रेंस के लिए देहरादून पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, पूरी खबर पढ़ने के...
  • पढे़ं प्रसिद्ध इतिहासकार रामचन्द्र गुहा का ब्लॉगः गांधी और बोस को एक साथ देखें
  • राशिफलः सिंह राशिवालों के कार्यक्षेत्र में परिवर्तन और आय में वृद्धि हो सकती...

घरेलू कनेक्शन को किया कॉमर्शियल, फिर बनाया सवा लाख का फर्जी बिल

फोटो भी है-- First Published:19-10-2016 07:35:53 PMLast Updated:19-10-2016 07:40:18 PM

:: विद्युत लोकपाल जनसुनवाई::

बिल संशोधित कराने पहुंचा तो काटी बिजली, एक साल से घर में अंधेरा

मध्यांचल निगम मुख्यालय में विद्युत लोकपाल जनसुनवाई आयोजित

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता

मैंने दस साल पहले घरेलू कनेक्शन लिया था। पिछले साल मई में मीटर खराब हो गया। पांच हजार रुपए देकर नया मीटर लगवाया, लेकिन इंजीनियरों ने बिल में कॉमर्शियल कनेक्शन कर दिया। इसके बाद फर्जी तरीके से एक लाख का बिल थमा दिया। इसकी शिकायत एसडीओ से की, लेकिन कोई कार्रवाई करने की बजाए विभाग ने 17 अक्टूबर 2015 को बत्ती काट दी। इससे पिछले एक साल से घर में अंधेरा है। लालटेन की रोशनी में बच्चों की पढ़ाई करनी पड़ रही है। यह बात जानकीपुरम-4/89 निवासी राम सागर की है। वह बुधवार को गोखले मार्ग स्थित मध्यांचल निगम मुख्यालय में आयोजित विद्युतलोकपाल जनसुनवाई में अपनी पीड़ा व्यक्त कर रहे थे।

मामले को गंभीरता से लेते हुए विद्युत लोकपाल श्रीकांत प्रसाद ने अधिकारियों को जमकर फटकारा। उन्होंने तत्काल उपभोक्ता को संशोधित बिल देने का निर्देश दिया। उन्होंने उपभोक्ताओं से उपकेंद्र में मोबाइल नंबर फीड कराने की अपील की। कार्यक्रम में निदेशक (तकनीकी) एसके वर्मा, मुख्य अभियंता आशुतोष कुमार और स्टॉफ आफिसर आईडी त्रिपाठी सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

--------------------------------

पीड़ित उपभोक्ताओं का दर्द-

केस-एक

ठाकुरगंज स्थित नगरिया निवासी श्यामा प्रकाश ने बताया कि फर्जी बिजली चोरी का आरोप लगाकर 73074 रुपए का बिल बना दिया। उपभोक्ता व्यथा निवारण फोरम ने 27 सितंबर को बिल को निरस्त कर दिया। इसके बावजूद अधिशासी अभियंता ने बिल सही नहीं किया।

केस-दो

साउथ सिटी निवासी एलबी सिंह ने बताया कि 15 महीने की मीटर रीडिंग 10 हजार यूनिट थी। अगस्त में अचानक 6339 यूनिट रीडिंग आ गई। इसकी शिकायत वृंदावन एसडीओ अनूप कुमार से की गई, लेकिन अभी तक चेक मीटर नहीं लगाया गया।

केस-तीन

लखीमपुर निवासी संजय कुमार ने बताया कि अप्रैल 2016 को ट्यूबवेल के तीन कनेक्शन लिया। विभाग ने खंभे और बिजली के तार लगवाने के अतिरिक्त अन्य कोई कार्रवाई नहीं हुई।

केस-चार

जानकीपुरम सेक्टर-डी निवासी सुभाष मिश्रा ने बताया कि 27 सितम्बर को मीटर में आग लग गई। इसकी सूचना अभियंताओं को दी गई इसके बावजूद अभी तक मीटर नहीं बदला गया।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: bijli lokpal
 
 
|
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड