class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सौ दिन पूरे होने पर जनता के सामने आएंगे यूपी सरकार के काम व उपलब्धियां, तैयारी में जुटा हर महकमा

-पहली जुलाई को जीएसटी में विलय से पहले अपनी विदाई बेला में मनोरंजन कर विभाग ने भी तय किए सौ दिन के कामविशेष संवाददाता- राज्य मुख्यालयमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली प्रदेश की नई सरकार के सौ दिन पूरे होने पर हर विभाग अपनी-अपनी उपलब्धियां जनता के सामने लाने की तैयारी में जुटा गया है। सौ दिन के यह काम तीस जून को प्रदेश सरकार के सौ दिन पूरे होने पर जनता के सामने लाए जाएंगे। सत्ता संभालने के बाद विभागवार हुए प्रस्तुतीकरण के दौरान मुख्यमंत्री ने इस बाबत आदेश दिए थे। इसी क्रम में अपनी विदाई बेला में प्रदेश का मनोरंजन कर महकमा भी राज्य की भाजपा सरकार के सौ दिन पूरे होने पर अपने नए कामों को अंतिम रूप देने में जुटा हुआ है। पहली जुलाई से वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू होने पर वाणिज्यकर व मनोरंजन कर विभाग का वजूद खत्म हो जाएगा और इन विभागों का विलय जीएसटी में हो जाएगा।करीब 80 साल पहले 15 नवंबर 1937 को उस वक्त के संयुक्त प्रांत (अविभाजित उत्तर प्रदेश) में घुड़दौड़ और सिनेमा के दर्शकों से टिकट पर टैक्स वसूलने के लिए मनोरंजन कर विभाग की स्थापना हुई थी। मनोरंजन कर विभाग इस नई सरकार के सौ दिन पूरे होने पर जो प्रमुख कार्य जनता के सामने लाने की तैयारी कर रहा है उसमें सबसे प्रमुख है जीएसटी में विलय। इसके अलावा बंद सिंगिल स्क्रीन सिनेमाहालों को खोलने, मौजूदा सिंगिल स्क्रीन सिनेमाहालों को अधिक लाभप्रद बनाने, नए सिंगिल स्क्रीन व मल्टीप्लेक्स के निर्माण को प्रोत्साहन की नई नीति तथा एनआईसी की मदद से बना एक आनलाइन वेब पोर्टल एप्लीकेशन है।इस आनलाइन वेब पोर्टल के जरिए अब सिंगिल स्क्रीन सिनेमाहाल व मल्टीप्लेक्स मालिक और संचालक लाइसेंस, जरूरी मरम्मत व निर्माण के लिए विकास प्राधिकरण, अग्निश्मन, स्वास्थ्य और विद्युत सुरक्षा जैसे विभागों से जरूरी अनुमति और अनापत्ति हासिल करने के लिए डीएम को आवेदन करेगा। अभी तक यह काम मनोरंजन कर आयुक्त कार्यालय कर रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:U.P. Gov.
From around the web